Pallavi Thakur
356 pts
Creative
Premium

अपने मन के भावों को काग़ज़ पर उकेर कर संजो लीजिए!

नमस्कार! मैं आकाशवाणी की युवा कलाकार हूँ। लेखन एवं हिंदी भाषा में मेरा अत्यधिक रुझान है। इस रुचि को एक ब्लॉगर के रूप में साकार करने के की कोशिश है।

दोस्तों, आप यह तो जानते होंगे कि हर क्रियाकलाप और उससे प्राप्त परिणाम का आधार संचार है। तब भी हम शायद ही अपने संचार कौशल पर ध्यान देते हैं, ये सोंच कर कि आखिर बचपन से हमने संचार ही तो किया है। फिर संचार को बेहतर करने पर ध्यान की आवश्यकता ही क्यों है?

यह सवाल इसलिए आता है क्योंकि हम अकसर संचार के महत्व को नज़र अंदाज़ कर देते हैं। संचार के बिना जीवन की कल्पना भी मुश्किल है। अतः ध्यान दें कि आपको अपने संचार कौशल में किन-किन सुधारों की ज़रूरत है। इसी कड़ी में हम बताने जा रहे हैं आपको बेहतर संचार की आवश्यकताएं :

✴ शुद्ध भाषा का ज्ञान

भाषा के प्रति लापरवाही के चलते अर्थ का अनर्थ भी हो जाया करता है। बेहतर संचार के लिए आवश्यक है कि संचार स्पष्ट हो, जिसके लिए भाषा का पूर्ण ज्ञान होना ज़रुरी है। उचित शब्दावली का प्रयोग, सही अनुवाद, शब्दों की पुन्द्वृत्ति पर ध्यान दिया जाना चाहिए।

✴ अनुकूल वातावरण

हमारे आसपास कई तरह की हलचल होती रहती है। ऐसे में कई भौतिक बाधाएँ संचार की प्रक्रिया को अवरुद्ध करती हैं जैसे आसपास किसी तरह का शोर होने पर वक्ता के शब्द श्रोता तक ठीक प्रकार से नहीं पहुँच पाते। यह शोर मशीनों की आवाज़ से, ट्रैफिक के कारण, या अन्य लोगों की बातचीत से उत्पन्न हो सकता है। अतः ज़रूरी है कि वतावरण व स्थान शांत हो और संप्रेषित संदेश के अनुकूल हो।

✴ समय

संचार पूर्ण हो, इसके लिए पर्याप्त समय का होना ज़रुरी है। समय के आभाव में किया गया संचार अधूरा एवं असंतोषजनक होता है । ऐसा इसीलिए क्योंकि कम समय में पूरी जानकारी प्राप्त नहीं की जा पाती है। इससे संचार कर्ता संप्रेषित संदेश को ठीक तरह से समझने में असक्षम होता है और परिणाम स्वरूप वह शंकाओं से घिर जाता है।

Posts

Opinions

No record found.

My Topic

My Group

0 comment

No Comments Yet