Roshan Jahan Roshan
147 अंक
Rising Star

जहां चाह है वहीं राह है।

I m a professional writer and I write Hindi,Urdu, English articles and blogs.

जीवन में कुछ योग्य लक्ष्य क्या है?.jpg

जीवन में योग्य लक्ष्य अनेक प्रकार से हैं -

योग्य लक्ष्य वो होतें हैं जो हम करना चाहते है जहां तक हम पहुंचना चाहते हैं लेकिन हम किस प्रकार पहचाने कि कौन सा लक्ष्य हमारे लिए योग्य है।यदि हम पहचान गए तो हम उस तक पहुंच सकते हैं।

योग्य लक्ष्य को पहचानने का तरीका -

जब कोई व्यक्ति अपने जीवन में जन्म लेता है तो उसका दुनिया में जन्म लेने के बाद ही उसका कुछ ना कुछ लक्ष्य रहता है I कभी किसी चीज की प्राप्ति, कभी किसी इंसान की प्राप्ति पर जो वास्तविक में मनुष्य के लिए आवश्यक होता है I वह यह कि, वह आगे चल कर क्या बनना चाहता है ? क्या करना चाहता है ? तो ऐसे में आपको कई लक्ष्य मिलते हैं लेकिन उसमे से कौन सा सही है कौन सा आपके लिए सही नहीं यह जानना मुश्किल हो जाता है तो इसके लिए कुछ चीजें ज़रूरी हैं।

हर किसी के पास खुद की एक अलग कला है जो यह निश्चित रूप से दर्शाता है कि वह क्या कर सकता है या क्या नहीं तो अपने अंदर की कला को पहचान के अपने योग्य लक्ष्य को पहचानो ।

जिस कार्य को करने की आपकी हमेशा से ईक्षा रही हो कुछ ऐसे कार्य जो करने के लिए आप हमेशा से जागरूक रहें हो यदि आपको कोई ऐसा लक्ष्य मिले तो यह आपके लिए योग्य होगा।

योग्य लक्ष्य की पहचान खुद से करें किसी और के कहने से किसी राह में आगे बढ़ने से सफलता नहीं परेशानियां मिलती है।

जिस काम को कर के आपको सम्मान, इज्जत, पैसा, रुतबा प्रत्येक चीजें मिलती है वह है आपका योग्य लक्ष्य है I परन्तु आपने कोई ऐसा लक्ष्य बनाया है जिसे करने के लिए आपको बहुत मेहनत करना पड़ेगा, अनेक परेशानियों का सामना करना पड़ेगा, फिर भी आप उसे करना चाहते है तो बस यह लक्ष्य आपके योग्य है।

पोस्ट

कलम -

कलम यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण वस्तु है जिसके ऊपर बहुत लोगों के जीवन के अनेक फैसले तथा लोगों के मन की बात कहानियां, शायरी आदि चीजें निर्भर करती है।

पर कभी क्या आपने यह सोचा है कि, कलम से किसी की ज़िन्दगी के बहुत ही गंभीर फैसला भी लिखा जाता है, या कोई व्यक्ति कलम से ही हस्ताक्षर कर के बड़ी-बड़ी डील करता है I इसलिए कलम को हमेशा सोच और समझ कर ही उठाना हमारे लिए सही होगा। हमे एक बार यह ज़रूर ध्यान देना चाहिए, हम क्या लिख रहें, कहां लिख रहें हैं और इसका क्या परिणाम है।

कसम -

कसम जिसे आज कल के समय में लोग बहुत हल्का समझने लगे हैं, पर कसम का मतलब वचन से होता हैै इसीलिए कसम लेना बहुत ही बड़ा विचार या बड़ा फैसला जैसा है I इसीलिए आपको पहले यह सोच लेना चाहिए कि आप इस कसम का मान रख पाएंगे या नहीं, तभी आपको कसम खाना चाहिए या किसी को कसम देनी चाहिए वरना नहीं।

कदम -

कदम उठाना मतलब यहां इस प्रकार है कि, कोई फैसला लेना I हम कई बार जल्दी में या किसी के कहने में, बड़े ही आसानी से और बिना सोचे कि ऐसा करने से आगे क्या होगा ? इसका परिणाम क्या है ? इससे किसको क्या असर होगा ? कोई भी बड़ा फैसला ले लेते हैं और बाद में फिर इस चीज का पछतावा होता है।

तो जीवन में हो या किसी रिश्ते में या फिर किसी कार्य में आपको कोई भी कदम जल्दी में और बिना सोचें समझे नहीं उठाना चाहिए I इसका परिणाम बहुत गलत भी हो सकता है। जब आपको कोई बड़ा फैसला लेना हो तो दिल और दिमाग दोनों से सोच समझ कर ही लें I कोई बड़ा कदम जल्दबाजी में न उठाएं।

कड़ी मेहनत ही आपके सफलता का सूत्र बन सकती है यदि आपके पास कड़ी मेहनत करने की हिम्मत है तो सफलता आपकी गुलाम हो जाएगी।

अगर आपने कड़ी मेहनत को अपना हथियार बना लिया तो आपको सफल होने से कोई भी नहीं रोक सकता I तब सफलता खुद आपकी गुलाम होगी आप जितना चाहे उतना सफल हो सकते हैं, परन्तु इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करना ही होगा।

जीवन में कभी भी किसी चमत्कार के भरोसे नहीं रहना चाहिए, ना ही किस्मत के भरोसे I आपको बस एक बात याद रखनी होगी और वह यह है कि आपको दिन रात बस मेहनत करना है I आपको पढ़ना है तो मेहनत करो, आपको एक सफल बिज़नेस बनाना है तो मेहनत करो, आपको एक अच्छी जॉब करनी है तो मेहनत करो, आपको खुद को फिट रखना है तो भी मेहनत करो I मेहनत करने से ही सफलता आपके पैर छू लेगी I आपको खुद सफलता मिलेगी, यदि आप मेहनत करते हैं तो, क्योंकि प्रत्येक चीज निर्भर करती है आपकी मेहनत पर।

अगर आपने कड़ी मेहनत करना सीख लिया तो आपको सफलता मिलेगी I साथ ही आपको एक बहुत ही सफल जीवन मिलेगा, क्योंकि कोई भी कार्य हो चाहे बड़ा या छोटा बिना मेहनत के वह पूरा नहीं होगा, आपको उसमे मेहनत करना ही होगा।

यदि आप मेहनती इंसान हो तो आप अपने जीवन की हर परेशानियों को मिटा सकते हो I यदि आपको मेहनत करने का तरीका पता है तो आपको आपके जीवन की हर चीज मिल सकती है। कड़ी मेहनत के साथ आप एक बेहतरीन इंसान और एक मजबूत इंसान भी बन सकते हैं I मेहनत आपके अंदर की कमजोरी निकाल के आपको एक हिम्मत वाला इंसान बना देती है।

एक सफल इंसान की पहचान होती है वह हर रोज़ कड़ी मेहनत के साथ अपना काम पूरा करता है और ऐसा करने से उसकी सफलता ज़रूर मिलती है।

चोरी -

यदि कोई व्यक्ति चोरी करता है और वह यह सोचता है कि ऐसा करने से वह अपने जीवन में खुशियां और अपनी जरूरतों को हासिल कर सकता है I तो यह उसकी बहुत बड़ी भूल है I चोरी करते वक्त आपको इस बात का अंदाज़ा नहीं होगा कि अगर आपका यह रूप सबके सामने आ गया तो आपका चरित्र किस कदर नष्ट हो जाएगा I चोरी एक बहुत ही बुरी आदत है जो इंसान के चरित्र को बरबाद कर देता है I किसी की वस्तु, पैसा, या सामान चुरा के कोई कभी अमीर नहीं बन सकता जबकि खुद की नजर में भी गिर जाएगा।

निंदा -

निंदा को अपने अंदर से हटाना चाहिए I हम किसी की बुराइयों को दोष को लेकर चर्चा करते हैं तो ऐसा करने से हम उस व्यक्ति का नही, जबकि खुद का चरित्र नष्ट कर देते हैं। हमे खुद के अंदर की बुराइयों को निकालना चाहिए I ना कि दूसरो कि बुराइयों को कर के अपने आप को बड़ा करें, यह चरित्र पर एक गलत प्रभाव डालता है।

झूठ -

झूठ वह कीड़ा है जो आपको खोखला कर देता है I झूठ से बना कोई रिश्ता, कोई भी कार्य, कभी भी सफल नहीं हो सकता I यदि कोई एक सच को छुपाने के लिए दस झूठ का सहारा ले रहा तो वह बहुत गलत कर रहा है I जो भी बात हो उसे साफ-साफ बोल देना चाहिए I झूठ बोल कर हम उस बात को और गलत बना सकते हैं I साथ ही हमारा चरित्र भी नष्ट हो जाता है। जो व्यक्ति झूठ बोलता है, लोग कभी उसकी बातों पर भरोसा नहीं करते I कई बार अगर वह सच भी बोले फिर भी उसे झूठा है समझा जाएगा I क्योंकि उसका चरित्र ही इसी प्रकार लोगों के सामने बन जाता है।

यह तीनों बातें इंसान अगर अपने अंदर रखेगा तो यह उसके चरित्र को पल भर में नष्ट कर देगा।

जब आपको यह लगे कि अब आप अपने जीवन में कुछ भी नहीं कर सकते या जब आप हार या असफलता ही देख रहें तो आपको सिर्फ एक चीज करनी चाहिए और वह है प्रयास।

प्रयास-

प्रयास एक ऐसा रास्ता है जो आपको आपकी मंज़िल तक ज़रूर पहुंचा सकता है I कोई भी कार्य कितना भी मुश्किल हो प्रयास उसे आसान बना सकता है I प्रयास करते रहना चाहिए तब तक, जब तक आपके लिए वह मुश्किल कार्य सरल ना हो जाए।

प्रयास करते रहने से हम विजय ज़रूर हासिल कर सकते हैं I कोई भी कार्य हो या कोई पढ़ाई यदि हम निरंतर प्रयास करते रहेंगे तभी हमे कामयाबी मिलेगी। किसी कार्य में एक्स्पर्ट बनने के लिए भी हमे प्रयास कि ज़रूरत होती है I हम जितना प्रयास करेंगे हमारे लिए वह बेहतर ही होगा।

हमे कभी भी उम्मीद खत्म नहीं करना चाहिए I जब हमे यह लगे कि हम यह कार्य नहीं कर सकते, तो हमे सिर्फ प्रयास करना चाहिए I प्रयास के जरिए हम उसे ज़रूर कर सकते हैं। जीवन में लक्ष्य प्राप्त करना हो या आगे बढ़ना हो, यदि हम रुक गए और थक गए तो कुछ नहीं हो सकता I इसीलिए बस प्रयास करो प्रयास से हर कठिनाई को आसानी में बदला जा सकता है।

कई बार हम लोग किसी चीज में लगातार असफल होने के कारण निराश हो जाते हैं और प्रयास करना छोड़ देते हैं तो क्या ऐसा करने से हम उसमे सफल हो जाएंगे, नहीं जबकि यह हमारे अंदर की कमजोरी को दिखाता है इसलिए हमें दिन प्रतिदिन बस प्रयास करना चाहिए।

कोई संगीत हो, या कोई डांस, कोई नाटक हो, या कोई खेल, हमे प्रयास की आवश्यकता ज़रूर होती है I यदि हम कुछ सीखने में असफल हो रहें है तो हमे हार ना मान कर प्रयास करते रहना चाहिए। हमे जीवन में कुछ बहुत अच्छा और बड़ा करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

यह एक ऐसा कथन है जिससे हम बहुत कुछ सीख सकते हैं -

पंछी अपने बच्चो के भविष्य के लिए घोसला इसलिए बना कर नहीं देता, क्योंकि उसे पता है की कभी भी कुछ ऐसी आवश्यकता हो सकती है जिसमे उसके बच्चे सिर्फ घोंसले में रहने से सुरक्षित नहीं हो सकते I उन्हें अपने लिए उड़ना चाहिए जिससे आने वाली हर कठिनाइयों का सामना वह खुद कर सके।

यदि वह सिर्फ उनके भविष्य के लिए एक-एक घर बनाने के बारे में सोचे और उसे उड़ना नहीं सिखाए तो जब कोई उसके घोसलेे पर हमला करे या उस पर हमला कर दे ऐसे में उसे उड़ना होगा ना कि छुप के बैठना।

वह अपने बच्चो को उड़ना इसलिए सीखता है क्योंकि उसे यह पता है कि पंछी आसमान में उड़ते ही शोभा दते हैं I छुप कर बैठते नहीं वह अपने बच्चो को कुछ इस प्रकार बनाना चाहते हैं कि वह अपनी कठिनाइयों का खुद सामना करें, और उस वक्त से खुद सीखें I यदि उन्हें उड़ना आता होगा तो वह खुद के लिए घोंसले भी बना सकते हैं, साथ ही उन्हें इस बात का अंदाज़ा भी होगा कि इस कार्य में कितनी मेहनत और क्या-क्या चीजों का सामना करना पड़ता है।

अगर पंछी खुद अपने बच्चो का भविष्य बना दे तो उन्हें खुद को मजबूत करने का अवसर नहीं मिलेगा। परेशानियां, मेहनत और चुनौतियां ही मजबूत बनाती हैं और उड़ना आता हो तो वह अपने जीवन में खुद संघर्ष कर सकते हैं।

ठीक इसी प्रकार हमे भी यह सोचना चाहिए कि जो चीज हम खुद की मेहनत से हासिल करते हैं वह हमारे लिए और कीमती बन जाती है जबकि जो हमे पहले ही बनी बनाई मिल जाती है हम उसकी कदर नहीं होती है। पंछी अपने बच्चो को उड़ना सीखा कर और बेहतर बना देता है जिससे वह उचाइयों में बिना डरे उड़ता रहे।

यह कथन मदर ट्रेसा जी का है - आइए इसके बारे में कुछ खास चर्चा करते हैं -

हम इस बात से यह समझते है कि मुश्किलें कितनी भी हो, परेशानियां कितनी भी हो, दर्द चाहे जितना हो, अगर हम अपने मन को शांत करना चाहते है, तो एक अच्छी सी मुस्कान अपने चेहरे पर लाना चाहिए। इससे हमारा मन तो शांत होगा ही, साथ ही हमे एक अच्छा हौसला भी मिलता है I मुस्कुराहट एक ऐसा जरिया है, जिससे हम बड़ी सी बड़ी मुसीबतों को बिल्कुल आसानी से संभाल सकते हैं।

इसीलिए मदर ट्रेसा जी ने यह बताया है कि आपको अपने मन को और आस पास के वातावरण को अगर शांत करना है तो आपको मुस्कुराहट से शुरुआत करनी चाहिए।

यदि हम योगा भी करते है तो अपने चेहरे पर मुस्कुराहट के साथ करते हैं I अगर हम गुस्से के साथ करेंगे तो इसका असर अच्छा नहीं होता है I इसलिए हम अपने मन को शांत करने के लिए अपने चेहरे पर एक प्यारी सी मुस्कुराहट लाते हैं, फिर हम कॉन्फिडेंट और सुंदर दोनों लग सकते हैं।

मुस्कुराहट के साथ हम कोई भी कार्य को अपनाते हैं तो वह सफल होने की संभावना होती है। हम किसी से मिलते है तो एक मुस्कुराहट चेहरे पर रखने से उस व्यक्ति को आपके स्वभाव का अंदाज़ा हो जाता है और वह भी बदले में एक मुस्कुराहट लाता है, जिससे कि आप दोनों के मिलाव में शांति आ जाती है।

यदि कोई व्यक्ति कितना भी गुस्सा या परेशान क्यों ना हो अगर वह खुद को शांत रखना चाहता है तो उसे एक अच्छी मुस्कुराहट लाना चाहिए I जिससे वह अपने गुस्से पर भी काबू कर सकता है और खुद को शांत कर सकता है।

मुस्कुराहट एक ऐसा लिबास है जो हमेशा फैशन में रहता है जो कभी आउट ऑफ फैशन नहीं होता इसलिए हमेशा मुस्कराते रहें।

मदर टेरेसा का यह कथन जहां भी जाइए प्यार फैलाइए जो भी आपके पास आए वह और खुश हो कर लौटे इससे हम क्या सीखते है -

इंसान को यह बात हमेशा ध्यान रखना चाहिए कि अगर उसका स्वभाव कुछ इस प्रकार है कि वह दूसरों को खुशियां दे सके, वह अपनी बातों से और अपने कार्यों से किसी को खुश कर सके, किसी का दिल जीते, तो यह एक बहुत ही बेहतरीन स्वाभाव होता है।

हम जहां जाए वहां प्यार फैलाएं का मतलब कुछ इस प्रकार है कि आज के इस समय में लोग एक दूसरे की लड़ाइयां लगवाने में ज्यादा खुश होते हैं I पर क्या कभी आपने सोचा है कि प्यार बाटने से कितनी खुशी मिलती है।

हमे हर तरफ सिर्फ प्यार फैलाना चाहिए I यदि कोई हमारे साथ बुरा व्यवहार करे तो भी उसे प्यार दो, वह खुद अपने किए पर पछताएगा I प्यार को अपने आस पास हर जगह कुछ इस कदर फैला दें, कि कोई भी आपको नफरत की निगाह से देख ही ना सके। प्यार सिर्फ दो प्रेमियों के बीच नहीं जबकि यह हर रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए होता है।

अगर आपसे कोई कुछ मांगता है तो ज़रूर दें, उसे उस चीज से खुशी मिलती है तो ज़रूर करें I कोई कितना भी बुरा व्यक्ति क्यों ना हो, हम उस प्यार से अच्छा बना सकते हैं I इसलिए अपने दिमाग से नफ़रत को हटा के बस प्यार को रखना चाहिए और हर किसी को बस प्यार ही बांटना चाहिए ।

यदि आप के पास कोई कुछ उम्मीद ले कर आता है तो उसे बिल्कुल निराश नहीं करना चाहिए I आप कुछ इस प्रकार करें कि जो भी आपके पास आए वह आपसे खुश हो कर लौटे I उसको इतना प्यार और आदर दे दो, उसे इतना अच्छा हौसला या सीख दे दो, कि वह और खुश हो कर लौटे।

मनुष्य स्वयं अपने भाग्य का निर्माता है कैसे -

मनुष्य कुछ इस प्रकार की धातु है कि उसकी शक्ति के आगे कोई भी चीज नहीं टिक सकती I यदि मनुष्य ने कुछ भी ठान लिया तो वह उसे कर सकता है I इस संसार में मनुष्य से ज्यादा शक्तिशाली कोई नहीं होता।

लेकिन यह भी निर्भर करता है मनुष्य के उपर I इसीलिए यह कहा जाता है कि मनुष्य स्वयं अपने जीवन का निर्माता है। उसे क्या करना है ,क्या नही करना है और वह क्या कर सकता है यह सब उसके उपर ही निर्भर है।

दुनिया में मनुष्य के आगे कुछ भी असंभव नही है आदमी के अच्छे और बुरे होने के निर्धारण स्वयं उसके कर्म करते हैं यदि हम जीवन में अच्छा करते है तो अच्छा ही मिलता है उसी प्रकार हम बुरा करते है तो बुरा होता है।

व्यक्ति अपने जीवन का हर फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है तो उसके भाग्य का फैसला कोई और कैसे कर सकता है I कई बार हम यही सोच कर बैठ जाते हैं कि हमारा लक हमें बचा लेगा, हमे मेहनत की आश्यकता नहीं है I परन्तु ऐसा नही होता हम अपना लक खुद बनाते है I अगर हमने यह तय कर लिया कि हमे जीवन में कामयाब होना है तो हमसे बड़ा कोई है ही नहीं जो हमे रोक सके I जब तक हम खुद ना चाहे हमे कोई नहीं रोक सकता।

हमारा जीवन हमारे उपर निर्भर करता है I हम किस प्रकार उसे बेहतर बना सकते हैं या उसे बिगाड सकते हैं हम जैसा करेंगे वैसा ही होगा। हम किसी और को दोष नहीं दे सकते अपने असफलता के लिए क्योंकि यदि हम सफल है तो भी खुद की वजह से, असफल है तो भी खुद की ही वजह से। आप अपने जीवन में कितना बेहतर करोगे यह स्वयं आप तय कर सकते हो कोई कॉलेज, कोचिंग, ट्रेनिंग या कोई और नहीं।

10 विभिन्न श्रेणियों के लक्ष्य कुछ इस प्रकार से हैं।

बड़ा बिज़नेस बनाना है -

यदि आपको एक बड़ा बिज़नेस करना है तो आपको बिज़नेस की पूरी जानकारी और उसमे हुए फायदे और नुकसान के बारे में अधिक जानकारी होना बहुत ही ज़रूरी है। और आपको यह भी तय करना होगा कि आपको किस चीज का बिज़नेस करना है I वह आपके लिए सही है या नहीं यह भी ध्यान रखें।

अच्छी जॉब करनी है -

अगर आपको अच्छी जॉब करनी है तो शुरू से आपको पढ़ने में मन लगाना होगा और अच्छे से सभी परीक्षाओं में पास होना पड़ेगा।

बड़ा ऑफिसर बनना है -

बड़े ऑफिसर बनने के लिए आपको दिन रात मेहनत करनी होगी I आपको सिर्फ पढ़ने पर ध्यान देना होगा interview पास करना होता है।

टीचर बनना है -

यदि आप एक टीचर बनना चाहते है तो अपनी डिग्री पूरी कर के किसी स्कूल में ज्वाइन कर सकते हैं और आप वह विषय चुन सकते हैं जिसमें आपको दिलचस्पी हो।

सिंगर बनना है -

सिंगर बनने के लिए लगातार गाने का प्रयास करना और म्यूजिक टीचर से सीखना आवश्यक है।

डांसर बनना है -

डांसर बनने के लिए आपको बहुत सारी प्रैक्टिस करनी पड़ती है और उसके कुछ क्लासेज भी लेने होते हैं।

डॉक्टर बनना है -

डॉक्टर बनना इतना आसान नहीं होता I आपको बहुत सारी परीक्षाओं को पास करने के साथ-साथ खुद को भी उसके लिए बहुत तैयार करना पड़ता है।

इंजीनियर बनना है -

आपको इसके लिए अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद किसी बेहतर कंपनी में ज्वाइन करना चाहिए और साथ ही आपका दिमाग़ बहुत ही तेज होना चाहिए।

पेंटर बनना है -

कुछ लोगों को बड़ा पेंटर बनने का शौक होता है जिन्हे पेंटिंग आती है I वह उसे लगातार आगे करते रहें और लोगों तक अपनी बनाई हुई पेंटिंग पहुंचाने का प्रयास करें।

लक्ष्य योजना -

मेरी लक्ष्य योजना कुछ इस प्रकार है -

मै अपने लक्ष्य के बारे में किसी को भी, कुछ भी नहीं बताना चाहती, क्योंकि यह एक सीक्रेट मेहनत होनी चाहिए I अगर लोगों को लक्ष्य के बारे में अंदाजा लग गया तो, सबसे पहले वह आपको डिस्टर्ब कर सकता है ।

योजना कुछ इस प्रकार की है कि मझे मेरे जीवन में एक बहुत ही कामयाब इंसान बनना है I जहां ना सिर्फ धन, बल्कि नाम और इज्जत भी बहुत ज्यादा हो। तो इस चीज के लिए मैंने एक बहुत ही महत्वपूर्ण फैसला लिया है I वह यह है कि, मझे अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ान वाली हर प्रक्रिया को समझना है और उसके मुताबिक मझे खुद को इतना मजबूत करना है कि कोई मझे हरा ना सके।

यदि मैंने ऐसा ठान लिया है, तो कोई भी मझे इस चीज से रोक नहीं सकता सिवाए मेरे I अगर मै कुछ करना चाहती हूं तो मझे उसे करने से कोई नहीं रोक सकता।

मै हर रोज़ इसी उम्मीद से सोती और उठती हूं कि मझे मेरे जीवन में कुछ करना है I यह सिर्फ सोचने से नहीं हासिल होता उसके लिए मझे बहुत ही ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है I मै रात भर जाग कर पढ़ती हूं, जब सारे लोग सो जाते हैं तो मै जागती हूं क्योंकि मझे कुछ करना है।

यदि आज मैंने यह मेहनत कर ली तो मझे ज़िन्दगी भर एक सफल इंसान बन कर जीने का मौका मिलेगा I यदि आज मैंने अपना यह कीमती समय खो दिया तो मझे जीवन भर बस पछताने के सिवा कुछ नहीं मिलेगा।

अब यह सिर्फ मेरे हाथ में है तो मैंने यह ठान लिया है कि मझे आज बहुत कठिन परिश्रम करना है I जिससे की मेरा भविष्य बहुत ही उज्ज्वल हो I क्या हुआ, जो आज हम परेशान है, कल सुकून ही सुकून मिलेगा।

जीवन में उचित लक्ष्य निर्धारित करना है तो पहले खुद को देखो, खुद को समझो I सबसे पहले आप यह समझो कि आपको क्या आता है ? आपको क्या करना है, और आप क्या कर सकते हैं ? यदि आपको इन सभी प्रश्नों के उत्तर मिल गए तो यह आपके लिए बहुत ही सहायक होंगे।

उचित लक्ष्य हर किसी का अलग-अलग होता है जिसको जो करना है और उसे उसकी पूरी जानकारी और उस तक पहुंचने की पूरी लगन हो वह उसका उचित लक्ष्य होगा।

अब यह खुद तय करना है कि अपने उचित लक्ष्य तक कैसे पहुंचना है। यदि वह इस बारे में शुरू से ही विचार कर के इस पर प्रयास कर लेे तो यह आपके लिए आसान होगा।

8 शक्तिशाली युक्तियां जो आपकी मदद करें -

अपने हौसलों को इतना मजबूत कर देना कि कोई उसे हिला भी ना सके।

खुद को इतना तैयार कर लो कि कभी भी, कोई भी, कार्य आपके लिए कठिन ना हो।

अपने आपको कुछ इस तरह बना लो कि, लोग आपको देखने के लिए सोचें और आपकी प्रसंशा पूरी दुनिया करे।

अपने अंदर की हर बुराइयों को, अपने अंदर की हर कमजोरियों को, दूर कर दो।

खुद की एक इतनी बेहतरीन पहचान बना लो कि, हर कोई अपने जैसा बनने के बारे में सोचे।

जो चीज आपको आगे बढ़ने से रोक रही हो, उसे आज ही और अभी ही दबा कर कुचल कर आगे बढ़ जाएं।

दुनिया को जो बोलना है बोलने दो, किसी कि नहीं सिर्फ और सिर्फ अपने आप की सुनो, अपने मन की सुनो।

कोई आपको रोक ही नहीं सकता, कोई आप तक पहुंच ही नहीं सकता, इसी के साथ आगे बढ़ो।

सफलता की योजनाएं -

क्या आपको पता है कि इस दुनिया में कुछ ऐसे भी लोग हैं जो विजय प्राप्त करने के बाद सोचते हैं कि अब उन्हें किसी परिश्रम का सामना ना करना पड़े, पर ऐसा नहीं होता है I विजय प्राप्त करने के बाद भी आपको कई योजनाएं बनानी पड़ती है और उसके बाद भी सतर्क रहना पड़ता है।

जब आप किसी एक बहुत बड़े मुकाम में पहुंच जाते हैं तो आपके ऊपर और अधिक ज़िम्मेदारियां आ जाती हैं फिर आपको और अधिक मेहनत की भी आवश्कता होती है। आपको हर जगह सोच समझ के फैसला लेना चाहिए जिससे कि कोई आपके ऊपर उंगली ना उठा सके।

योजनाएं कुछ इस प्रकार बनाएं कि किसी को भी उस बात की खबर ना लगने दें। किसी पर बहुत ज्यादा भरोसा कर के उसके उपर किसी भी तरह का इन्वेस्ट ना करें, क्योंकि आपको नहीं पता कि कब कौन सा व्यक्ति आपके खिलाफ चला जाए और उसका भुगतान आपको देना पड़े।

अपने आपको कुछ इस तरह से दर्शाएं की लोग आपको देख कर ही समझ जाएं कि आपके अंदर कितनी खूबियां है और आप एक बेहतरीन इंसान हैं जो हर कार्य को अच्छे से संभाल सकते हैं।

सफल होने के बाद आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आपको और सफलता प्राप्त करने के लिए अब क्या करना होगा। आपको इसी सफलता में बने रहने के लिए किस तरीके से काम करना पड़ेगा। खुद को एक अच्छे ओहदे पर हमेशा के लिए बनाएं रखने के लिए योजनाएं बनाते रहना चाहिए।

सफलता तक पहुंचने के बाद आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आपको उस फील्ड में खुद की एक बेहतर पहचान हमेशा के लिए बनाएं रखनी होगी। विजय सिर्फ एक बार नहीं बार-बार और हर बार बनना है कुछ ऐसे विचारों को अपने दिमाग में रखें।

लक्ष्य निर्धारण के लिए 9 शक्तिशाली और प्रेरणादायक उद्धरण कुछ इस प्रकार है -

अपने अंदर का हर डर बाहर निकाल दें और खुद की कब्लियात को पहचाने यह देखे कि आपके अंदर क्या करने की जिज्ञासा है I आप क्या बेहतर कर सकते हैं फिर उस प्रकार आप अपने लक्ष्य को निर्धारण कर सकते हैं।

यदि एक बार आपने अपने लक्ष्य के प्रति कोई फैसला लेे लिया तो यह आपका अंतिम फैसला होना चाहिए I लक्ष्य सिर्फ एक बनाओ और उसी पर टिके रहना जब तक आप अपने लक्ष्य को प्राप्त न कर लें I पीछे नहीं हटना चाहिए।

लक्ष्य निर्धारण करने के लिए सबसे पहले हमे खुद को अपने लक्ष्य के प्रति बहुत ही ज्यादा उत्साहित करना होगा I यदि हम अपने लक्ष्य के प्रति उत्साहित हैं हमे हर तरफ बस अपना लक्ष्य ही दिख रहा है तो, हम अपने लक्ष्य तक ज़रूर ही पहुंचेंगे।

लक्ष्य कुछ इस प्रकार बनाओ कि पूरी दुनिया आपकी तरह बनना चाहे।

जो भी करो उसमे सबसे बेहतर आप बनो आपसे बेहतर कोई होना ही नही चाहिए।

लक्ष्य किसी की तरह बनना नहीं, बनाओ जबकि खुद की एक नई पहचान बनाओ I जिससे लोगों को यह लगे कि आप जैसा अब तक कोई आया है नही है और ना आ सकता है।

अपने लक्ष्य के लिए एक दिन, दो दिन नहीं, जबकि हर दिन और लगातार बस प्रयास करते रहो I इतना प्रयास करो कि आपको वहां तक पहुंचने के लिए हर कठिन रास्ता आसान बन जाए सफलता खुद आपके पास आए।

अपने लक्ष्य को लेे कर हर मिनट हर पल सोचो तब तक सोचो जब तक आप वहां पहुंच ना जाओ।

लक्ष्य निर्धारित करने के बाद सिर्फ मेहनत को ही अपना हथियार बनाओ और सिर्फ अपने लक्ष्य पर ध्यान दो जिससे कोई भी चीज आपके और आपके लक्ष्य के बीच ना आ सके।

15 प्रमुख आदतें कुछ इस प्रकार हैं -

आपको खुद के अंदर एक बेहद जुनून और जज्बा लाना होगा जो सिर्फ आपको विजय हासिल करने के लिए सहायक हो।

आपको अपने आप में से हर वह बुराई हटाना होगा, जो आपके जीवन में आपको किसी मुकाम तक पहुंचने में मुश्किल हो रही हो।

अपने अंदर की सारी खूबियों को पहचानो उसे बाहर निकाल कर प्रदर्शित करो।

लगातार मेहनत, लगातार प्रयास, आपके लिए बहुत जरूरी होती है, इसे कभी नहीं छोड़ना चाहिए।

आपको हर अच्छे लोगों के साथ रह कर उनकी अच्छाई सीखना चाहिए।

जितना हो सके खुद को एक मजबूत इंसान बनाओ, जिससे कोई भी चीज आपको पीछे ना कर सके।

अपना हर काम समय पर शुरू करें और खत्म करें।

कभी भी किसी फालतू चीजों में समय नहीं बरबाद कर के किसी अच्छे कामों में समय लगाएं।

रोज़ निरंतर कोशिश करें जिससे कि कुछ भी हो जाए पर आप हार और सफलता की तरफ ना जाएं।

अपने आपको हर चुनौतियों के लिए हर परीक्षाओं के लिए तैयार रखो I आपका इम्तेहान कभी भी शुरू हो सकता है।

जीवन में अपने काम से काम रखो I किसी के काम से मतलब नहीं, सिर्फ अपना मार्ग देखो, अपने कार्य को देखो, उसको पूरा करो।

एक अच्छा स्वभाव बना के रखो I जिससे लोगों को आपका स्वभाव आसानी से समझ आ जाए और आपके साथ काम करने में आसानी हो।

दिन रात बस मेहनत करते रहो परिणाम ज़रूर मिलेगा।

अच्छी किताबें पढ़ो और उनसे अच्छा सीखो।

जिस कार्य में आपका मन और आपको संतुष्टी हो उसी को करो।

किसी और की वजह से अपने जीवन की अनमोल खुशियों को बरबाद नहीं करो।

आप जीवन में किसी भी काम में सफल होना चाहते हैं, तो इसके लिए गोल सेट करना बहुत ही ज्यादा आवश्यक है I मजबूत लक्ष्य प्लानिंग का यह मतलब है, कि आपका ड्रीम अब आपके प्रेक्टिकल कार्यों पर निर्भर करता है। ऐसा करने से आप आसानी से सफल हो जाते हैं।

स्मार्ट गोल सेटिंग कैसे करें -

बिना स्मार्ट गोल सेट किए हम कैसे कोई कार्य के परिणाम तक पहुंच सकते हैं I मान लीजिए हमे दिल्ली से मुंबई जाना है तो हमे इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए कि दिल्ली से मुंबई कौन सी ट्रेन या बस जाती है I उसमे कितना घंटा लगता है, हमे वहां पर किस जगह जाना है, कहां रुकना है आदि।

ज़िन्दगी में आपको शुरू से ही हर बात पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है I यदि हम 100 छोटी चीजें सीख लेते हैं तो यह आगे चल के हमे हमारे बड़े सपनों तक पहुंचने के लिए सहायक हो सकते हैं।

आपका ड्रीम बिकुल ही क्लियर होना चाहिए I बाद में आपको उसमे कोई कंफ्यूज़न ना हो I यदि ऐसा होता है तो आपको अधिक कठिनाई आ सकती है।

कुछ लोगों का यह कहना है कि मझे जीवन में एक अमीर और पैसों वाला बनना है बस, लेकिन अगर उनसे यह पूछा जाए कि वहां तक कैसे पहुंचना है ?क्या करेंगे ? किस कैरियर में आगे बढ़ेंगे ? तो उन्हें उस बात की जानकारी नहीं होती है।

ऐसा गोल सेट ना होने का ही कारण है।

80% लोगों का बस एक ही मकसद होता है कि उन्हें बस कामयाब होना है पर उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि कैसे होना है।

तो आपको सबसे पहले अपना गोल सेट करना होगा I फिर उसके अनुसार आपको उस रास्तें पर चलना होता है I अगर इसी प्रकार आप आगे बढ़े तो आपको कामयाबी ज़रूर मिलेगी।

एक लक्ष्य निर्धारित करना महत्वपूर्ण है -

जीवन में हम एक साथ सिर्फ एक ही काम पूरी तरह कर सकते हैं I तो हमें इस बात का खास ध्यान देना चाहिए कि हम दस तरीके के रास्ते अगर चुन भी लेते है, तो फायदा क्या है ? इंसान एक समय में एक ही रास्ते पर चल सकता है, तो इसके लिए बेहतर यह होगा कि हम एक लक्ष्य बनाएं।

जीवन में एक ही लक्ष्य बनाना इसलिए आवश्यक है क्योंकि हम अपनी एक खास मंज़िल तक पहुंचना चाहते है I जहां हम खुद को साबित कर सके I बहुत सारी सफलताएं प्राप्त कर सकें I अगर हम किसी के कहने पर अपने कई सारे लक्ष्य ही बनाते रह जाएंगे, तो हम अपना सारा समय इसी में खो देंगे I इस लिए हमे सिर्फ एक लक्ष्य तक पहुंचना और उसे बनाना है उसी बारे में सोचना चाहिए।

कई सारे लक्ष्य बना के हम सिर्फ कंफ्यूज हो सकते हैं। यदि हम शुरुआत से ही एक लक्ष्य बनाएं और उसी के मुताबिक खुद को तैयार करे, तो हमारे समय की भी बचत होगी और हमें सफलता तक पहुंचने में भी आसानी होगी।

अलग-अलग लक्ष्य बना के उस पर अपना मन भटकाना और अपने आपको उससे परेशान करना, यह एक असफल इंसान की पहचान है। यदि आप आसानी से बिना भटके कुछ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको शुरू से ही एक मार्ग में चलने की आवश्यकता है।

आप अपना एक बेहतरीन लक्ष्य को चुन कर, खुद को उसके लिए बेहद उत्साहित कर के, खुद को उसके लिए पूरी तरह से तैयार करने में लग जाना चाहिए और सिर्फ उस एक लक्ष्य को पाने के लिए इस कदर लग जाओ कि कोई भी चीज आपको रोक ना सके।

अवास्तविक लक्ष्य -

अवस्त्विक लक्ष्य वह होता है जो इंसान को उसके कैरियर में आगे बढ़ने के लिए कई बार बाधा डाल देता है। झूठे लक्ष्य बनाना और उसमे अपना समय बरबाद करना इस प्रकार के लक्ष्य को हम अवास्तविक लक्ष्य कहते हैं।

कई बार हमे किसी बारे में जानकारी नहीं होने के कारण हम कई सारे लक्ष्यों में उलझे रहते हैं जिसका परिणाम यह होता है कि हमारा समय भी बरबाद हो जाता है और हम कुछ प्राप्त भी नहीं होता।

अनेक प्रकार के लक्ष्य को बनाना और रोज़ उसके लिए विचार बदलना यह एक अवस्तविक लक्ष्य कहलाता है। जिसमे हमे दूर-दूर तक कोई सफलता नहीं मिलती है। गलत लक्ष्यों में भटक कर रहने से अच्छा है हमे खुद कुछ बेहतर सोचना चाहिए।

यथार्थ वादी लक्ष्य -

जब हम कोई ऐसा लक्ष्य निर्धारित करते हैं जो वास्तविक में हमारे जीवन में सफलता का कारण बन सकता है और हमे कामयाबी तक पहुंचाता है। हम हमेशा ऐसा ही लक्ष्य निर्धारित करें, यह हमारे लिए बहुत ही लाभदायक होगा और हमे उसमें किसी भी प्रकार की चुनौतियों का सामना भी नहीं करना पड़ेगा।

याद रहे अगर हम अपना लक्ष्य ऐसे ढंग से बनाते हैं कि हमे हमारे अंदर की सारी खूबियों को प्रदर्शित करने का मौका मिल सके तो यह एक बेहतर रास्ता है जो हमे आसानी से हमारी मंज़िल तक हमको पहुंचा देता है। भले ही इस मार्ग में हमें कई दिक्कतों का सामना क्यों ना करना पड़ जाए पर हमे हार नहीं मानना चाहिए। हमे इस बात का भरोसा रखना होगा, जब हम ने एक बेहतर मार्ग चुना है तो उसमे सफलता भी ज़रूर मिलेगी।

लक्ष्य निर्धारण के लिए क्या करें -

लक्ष्य निर्धारण के लिए आपको प्रतिदिन अपने लक्ष्य के बारे में ही सोचना चाहिए उसका प्रयास करना चाहिए। क्या सही है ? क्या गलत है ? यह सोच कर ही किसी बात का फैसला लेना चाहिए और एक बार अपने लक्ष्य को अगर निर्धारित कर लिया, तो कुछ भी हो जाए, कितनी भी चुनौतियां क्यों ना आए जाए, आपको पीछे नहीं हटना है I आपको हार नहीं मानना है I आपको खुद को साबित करना है I यदि आपने ऐसा ही किया तो आपका एक बेहतर लक्ष्य बनने से और आपको उस तक पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता।

आपको हमेशा अपने लक्ष्य को ले कर खुद को उत्साहित करना होगा। आपको अपने आप को हर चीज का सामना करने के लिए तैयार करना होगा।

लक्ष्य निर्धारण के लिए क्या न करें -

जब एक बार अपने लक्ष्य को तय कर लें तो कुछ भी हो जाए आपको उस पर ही टिके रहना है, चाहे कुछ भी हो जाए, कितनी भी परेशानियां क्यों ना आ जाए, आपको पीछे नहीं हटना है।

छोटी सी बात पर परेशान होने के बजाए आपको उसका समाधान ढूंढना है। दिन रात बस मेहनत करना है बिना किसी की सुने, बिना किसी से कुछ कहे।

अपने फैसलों पर ही रहना है I याद रखे, कभी किसी और के लिए अपने लक्ष्य से नहीं भटकना है I ना ही किसी और के कहने पर अपना इरादा बदलना है I जो एक बार ठान लिया उसे कर के है दिखाना है।

कभी भी किसी और के कहने पर अपना लक्ष्य नहीं बनाएं जबकि अपनी कब्लीयत के मुताबिक बनाएं I पहले देखें आपके अंदर किस काम को करने की इच्छा है, आप में क्या करने का जज्बा है, फिर उसी पर चलें।

चुनौतियां -

लक्ष्य निर्धारण करते समय अनेक प्रकार की चुनौतियों का सामना हममे ना चाहते हुए भी करना होता है I कई बार लोग यहीं पर हार मान लेते है और लक्ष्य से दूर हो जाते हैं I पर हममे इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि चुनौतियों का सामना करने से हमे कुछ सीखने को मिलता है I हमे और बेहतर बनने का मौका मिलता है।

रिजेक्शन -

जब लोग किसी पहली परीक्षा में रिजेक्ट हो जाते हैं तो वह इस कदर निराश हो जाते हैं कि वह दुबारा उस परीक्षा को देने से डरते हैं I पर हमे ऐसा नहीं करना चाहिए मान लीजिए हम किसी परीक्षा कि तैयारी कर रहे हैं और हम उसमे दो या तीन बार फेल हो गए है और हर बार हमने उसमे कुछ और सीखने की कोशिश की है तो उसके बाद हमे कोई हरा नही सकता है।

पारिवारिक समस्या -

पारिवारिक समस्याओं के कारण लोग इस कदर परेशान रहते हैं कि वह कुछ भी आगे नहीं कर पाते यह उनके लिए एक ऐसी समस्या बन जाती है जिसे वह चाह के भी अनदेखा नहीं कर पाते।

धन का अभाव -

जब किसी मनुष्य के पास पैसों की कमी होती है तो उसे अपने जीवन में बहुत ही कठिनाइयों का सामना करना पड़ जाता है क्योंकि इस दुनिया में हर चीज के लिए धन की अधिक आवशयकता होती है।

अपने अंदर की कुछ समस्याएं -

अपने अंदर किसी बात को बैठा कर रखना छोटी-छोटी बातों पर बहुत अधिक सोचना और उसी को लेे कर निराश रहना यह हमारे लिए एक बहुत बड़ी समस्या बन सकती है। जिसे दूर करना किसी के बस की बात नहीं है जो सिर्फ हम खुद ही कर सकते हैं तो यह समस्या दूर करने के लिए हमे खुद के अंदर की सारी कमजोरियों को निकालना होगा।

लक्ष्य को प्राप्त करने से आप अनेक प्रकार की परेशानियां, बाधाएं और अपने जीवन की छोटी-छोटी समस्याएं रोक सकते हैं -

जब कोई इंसान एक अच्छी सफलता प्राप्त कर लेता है तो उसे पैसों के साथ-साथ इज्जत और शोहरत सब कुछ मिलता है। आज कल के समय में सबसे ज्यादा क्या ज़रूरी हैं इंसान अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए ही काम करता है और अपने आपको एक अच्छी पहचान देने के लिए यदि वह इस चीज में सफल हो गया, तो वह लोगों के साथ-साथ खुद की नजर में भी एक बेहतरीन इंसान हो जाता है।

फिर उसे किसी भी तरह की छोटी मोटी जरूरतों के लिए लोगों के सामने हाथ नहीं फैलाना पड़ता है I फिर वह खुद की और खुद के परिवार की जिम्मेदारी निभा सकता है I यही एक अच्छे इंसान की पहचान होती है।

उसके बाद आप अपने जीवन में आने वाली अनेक प्रकार की दिक्कतों को रोक सकते हैं I क्योंकि अगर जीवन में एक अच्छा ओहदा है एक अच्छी पहचान है तो आपको लोग इज्जत भारी नजर से देखते हैं आपको सम्मान देते हैं।

आपको जिल्लत भरी ज़िन्दगी से फुर्सत मिल सकती है। आपको अपने आने वाले जेनरेशन के बारे में ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं होगी I उनका भी भविष्य बेहतर और उज्ज्वल हो सकता है।

जब आप किसी काम में खुद को व्यस्त रखते हैं तो आप फालतू के कामों से, फालतू की गंदगियों से दूर हो जाते हैं और आपका सारा समय आपके काम में निकलता है I जो कि आपको एक अच्छे मुकाम तक पहुंचा सकता है। एक सुखी और आनंदपूरवक जीवन बिता सकते हैं जो हर व्यक्ति की ख्वाहिश होती है।

राय

कोई रिकॉर्ड नहीं मिला।

मेरा विषय

मेरा ग्रुप

0 टिप्पणी

अभी कोई टिप्पणी नही