सुबह जल्दी उठने के 10 फायदे

सुबह जल्दी उठने के 10 फायदे

  

सुबह का समय सबसे अलग और महत्वपूर्ण होता है |कुछ वैज्ञानिको ने दावा किया है सिर्फ सुबह जल्दी उठने से आपकी जिंदगी पूरी तरह से बदल जाएगी |हर धर्म में हर ग्रन्थ में सुबह जल्दी उठने को कहा गया है और उसी को महत्व दिया गया है |हमेशा कोई भी अच्छा काम सुबह जल्दी उठ कर करने की ही सलाह दी जाती है | पढ़ाई भी बच्चो को सुबह जल्दी उठके करने को ही कही जाती है| सुबह के वातावरण में जो ताजगी और जो शुद्धता होती है वह पुरे दिन आपको देखने को नहीं मिलती | हमें एक अलग ही आनद की अनुभूति होती है, निश्चित ही प्रकृति का अलग रूप देखने को मिलता है |बुजुर्गो ने सुबह जल्दी उठने की शिक्षा हमेशा से दी है|एक दिन आप अगर सुबह जल्दी उठ गए तो आपके शरीर की आधी बीमारी ख़त्म हो जाएगी |हमें बचपन से सिखाया जाता है रात में जल्दी सोना चाहिए और सुबह जल्दी उठना चाहिए इससे हमारा शरीर स्वस्थ रहता है |

समय ज्यादा होना :- वैसे तो हम सभी के पास दिन के 24 घंटे होते है परन्तु अगर हम सुबह जल्दी उठ जाते है तो उस समय सो रहे व्यक्ति के मुकाबले आपके पास समय ज्यादा होता है | विज्ञानं के अनुसार एक स्वस्थ शरीर के लिए सिर्फ 8 घंटे की नींद जरुरी होती है | मान लीजिए अपने 2 घंटे प्रतिदिन जल्दी उठने का सोच लिए है मतलब महीने में आपके पास 62 घंटे और जाते है और इसी तरह साल में आपके पास 730 घंटे जाते है मतलब पुरा 1 महीना ज्यादा आ जाता है आपके पास |

प्रोडक्टिव काम :- जब हम सुबह देर से उठते है तो हमारा दिन भी देर से शुरू होता है बाकि लोगो की तरह हम भी दिनचर्या के काम में लग जाते है शाम को परिवार के साथ समय बिताते है और थोड़ा मनोरंजन करके थक कर सो जाते है | हम ऐसी दिनचर्या में स्वयं को और स्वयं की प्रतिभा को समय नहीं दे पाते है|हमारी प्रोडक्टिविटी धीरे-धीरे खत्म हो जाती है |

मानसिक फिटनेस :- क्या हमें पता है ? सुबह का पहला घंटा हम जिस तरह से बिताते है, पूरा दिन हमारा उसी तरह से निकलता है |और जैसा हम दिन निकालते है वैसे ही हमारी पूरी जिंदगी निकलती है|इसलिए बहुत महत्वपूर्ण है सुबह का वो पहला घंटा | अगर हम दिन की शुरुआत तनाव से, प्रेशर से कर रहे है |उठते ही भागा-दौड़ी कर रहे है तो दिन हमारा केसा बीतेगा|

समय का उपयोग :- जो देर से उठते है वो हमेशा बोलते है समय नहीं है , जो जल्दी उठते है उनके पास हमेशा समय होता है |

सकारात्मक सोच :- जो लोग सुबह जल्दी उठते है वो लोग काफी शांत स्वाभाव के और सकारात्मक सोच वाले होते है | आज कल की युवा पीढ़ी को ही देखे तो काफी गुस्सा आता है उन्हें और 80% नकारात्मकता का भाव होता है उनके दीमग में किसी भी कार्य को लेकर, परन्तु हमारे बड़े-बुजुर्ग और माता-पिता हमेशा जल्दी उठते है और सकरात्मत सोच के साथ हमें प्रोत्साहन देते है |

स्वस्थ दिमाग :- सुबह के समय हमारा दिमाग ज्यादा स्थिर शांत और फोकस होता है| इसलिए हमेशा सुबह की गई कोई भी गतिविधि हमें आसानी से याद रहती है | सुबह पढ़ाई करने के पीछे की वजह भी यही है की सुबह का पढ़ा हुआ लम्बे समय तक याद रहता है |

डिस्ट्रक्शन नहीं होना :- सुबह उठते से रात में सोने तक मोबाइल का डिस्ट्रक्शन या पूरी जिंदगी में किसी ना किसी चीज का डिस्ट्रक्शन चलता रहता है | सुबह का समय ऐसा समय होता है जहाँ कोई डिस्ट्रक्शन नहीं होता है |इतनी शांति होती है जिसकी 1% भी आपको दिन भर में नहीं मिलती है | यह समय आपका अपना कीमती समय होता है |

स्वस्थ शरीर :- बहुत सारी रिसर्चेस भी बार-बार साबित कर चुकी है की अपना बॉडी क्लॉक सूर्य उदय से सूर्य अस्त तक ही होता है परन्तु यदि हम देर तक जागते है हमारा दिनचर्या बदलता है तो हमारे शरीर में कई सारी बीमारिया जन्म लेती है |

लक्ष्य को प्राप्त करने में :- हमारा दिमाग एक ऐसी मशीन है जिसे आप कोई चीज जितनी अधिक बार याद दिलाओगे वह उसको उतना ज्यादा याद रखेगा | इसलिए सुबह के शुभ समय में उठो और अपने दिमाग को याद दिलाओ अपने लक्ष्य को लेकर आप जल्दी सफल हो जाओगे |

आलस्य से दुरी :- सुबह जल्दी उठ कर दीमग को शांत करके यदि हम खुली हवा में व्यायाम करते है मैडिटेशन करते है तो हमारे दिन की शुरुआत फुर्ती के साथ होती है और पूरा दिन जोश से भरपूर निकलता है कुछ भी छूटता नहीं है जो दिन में करने को अपने सोचा था |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों