दिमाग को शांत और केंद्रित कैसे रखा जाता है

दिमाग को शांत और केंद्रित कैसे रखा जाता है

  

दिमाग मानव शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, दिमाग को शांत और केंद्रित रखना बहुत जरुरी है क्युकी अगर हम उसे शांत नहीं रखेंगे तो हम उसकी सभी शक्तियों का प्रयोग नहीं कर पाएंगे | दिमाग की शक्तियाँ ब्रम्हाण की शक्तियों से मिलकर मानव द्वारा सोचे गए हर कार्य को मुमकिन कर देती है | अगर कोई गाड़ी है उसको आप लगातार चलते रहेंगे और आराम नहीं देंगे तो वह या तो बंद हो जाएगी या उसका इंजन खराब हो जाएगा इसलिए गाड़ी के इंजन की तरह भी हमारे पुरे शरीर को दिमाग चलता है हमें उसे कुछ देर का आराम देना चाहिए शांत रखना चाहिए भरपूर नींद लेना चाहिए, जल्दी सोना चाहिए और प्रातः जल्दी उठ कर व्यायाम करना चाहिए | कोई कंप्यूटर अगर सीमा से ज्यादा चल जाता है तो वो गर्म हो जाता है या हैंग हो जाता है उसी तरह हमारा अस्वस्थ दिमाग हमारे पुरे शरीर को हैंग कर सकता है |

दिमाग को स्वस्थ रखे :- हम सभी के दिमाग में बहुत कुछ चलता रहता है और हमेशा चलता रहेगा भी क्युकी दिमाग इंसान के शरीर का सबसे महत्वपूर्ण यंत्र हे और जब तक हमारा शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त रहेगा तब तक हमारा दिमाग बहुत ही अच्छा काम करेगा |

इसलिए इंसान को अपनी देख-भाल अच्छे से करना चाहिए | जैसे की सही से भोजन करना नियम के साथ करना और साथ साथ ही पौष्टिक आहार लेना भी बहुत जरुरी है खानपान के साथ-साथ इंसान कि नित्य क्रिया भी समय से शुरू होना चाहिए है | एक स्वस्थ दिमाग दुनिया का पूरा डाटा स्टोर कर सकता है | स्वस्थ दिमाग से हमारी आयु 10% बड़ जाती है यह वैज्ञानिको की खोज है | दिमाग हमारे शरीर का सबसे रहस्यमयी अंग है जिसको समझना बहुत मुश्किल है |

नित्य क्रिया समय से करने से :- इंसान को अपने कार्य समय से ही करना चाहिए जैसे कि सुबह जल्दी उठना, व्यायाम करना, घूमना, योग करना और सुबह का आहार सुबह ही लेना और समय से सोना बहुत जरुरी है अगर समय के अनुसार इंसान अपने कार्यो को पूर्ण करेगा तो उसके दिमाग कि स्मरण शक्ति भी बढ़ेगी और हमारा दिमाग काफी अच्छे से काम करेगा और शांत भी रहेगा अन्यथा जब शरीर स्वस्थ नहीं रहेगा तो फिर दिमाग में चिड़चिड़ापन जाता है और ये सब दिमाग को अशांत कर देता | इसलिए एक स्वस्थ दिमाग के लिए स्वस्थ शरीर जरुरी है !

दिमाग को शांत कैसे रखे :- दिमाग को किसी अन्य ऊर्जा कि आवश्यकता नहीं सिर्फ एक स्वस्थ शरीर के अलावा और इंसान इसका पूर्ण उपयोग भी करता हे अच्छे कार्यो में और बुरे कार्यो में | बुरे कर्मो से दिमाग में अशांति आती हे और वह निरंतर सोचने का कार्य भी करता रहता है | इसी के विपरीत अगर इंसान अच्छे कार्य करता हे तो उसके दिमाग में सकारात्मक सोच आती हे और उसको काफी शांति भी मिलती है और उससे दिमाग निरंतर कार्य भी नहीं करता है इसलिए स्वस्थ दिमाग के लिए कार्य एवं सोच भी सकारात्म रखे जिससे मन शांत और काफी स्वस्थ रहता है !

दिमाग की कार्य प्रणाली :- हमारा दिमाग निरंतर कार्य करता है और हर एक परिस्थिति से गुजरता है और वह कैसे क्या संभालता है वह काफी समझने योग्य है | दिमाग का कार्य हमे निर्देश देना और हमारे कार्यो को सफल बनाना होता है हमारे हर एक कार्य को किस समय करना है और कैसे करना है यह सब कुछ दिमाग नियंत्रित करता है | हमारे दिमाग में बहुत सारा डाटा होता है उसकी स्मरण शक्ति दुनिया के हर कम्प्पूटर से ज्यादा है इसलिए जिस कार्य को करना है उस समय हमें सिर्फ उसी के बारे में सोचना चाहिए और कोशिश करना चाहिए हमारे दिमाग में सकारात्मक विचार ज्यादा आए और नकारात्मक कम |

दिमाग को केंद्रित करना :- दिमाग को केंद्रित करने के लिए पहले तो दिमाग को एकदम शांत रखे | क्युकी अगर दिमाग शांत नहीं होगा तो जब हम सोचना शुरू करेंगे तो हम एक ही समय में काफी कार्यो के बारे में सोचेंगे क्युकी हमारा उस पे नियंत्रण नहीं होता है | उसके लिए योग, व्यायाम, के साथ-साथ में सकारात्मक सोच भी बहुत जरुरी हे क्युकी उससे इंसान हमेशा अपने कार्य सही और सत्य कूटनीति के साथ करता है | जिससे की उसके कार्य में बाधा कम आती हे |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों