क्या पढ़ाई में आपका मन नहीं लगता है?

नमस्कार मित्रों ! शायद आपका मन कुछ नया पढ़ने का कर रहा है और शायद आपके मन की बात हम तक पहुंच गई है। इसीलिए हम आपके सामने हाजिर हैं एक और बेहतरीन लेख लेकर जो न केवल शिक्षाप्रद है, बल्कि हजारों युवाओं के लिए मार्गदर्शन प्रदान करने में सक्षम है। मित्रों, जीवन में कुछ करने के लिए, एक अच्छा मुकाम हासिल करने के लिए और सफलता पाने के लिए पढ़ाई से जरूरी और कुछ भी नहीं है। यह विषय चिंताजनक है कि आज की युवा पीढ़ी इस बात के महत्व को भूलती जा रही है और पढ़ाई करना उनकी...

View more
क्या आप सेल्फ स्टडी करते हैं : जानें क्यों है ज़रूरी सेल्फ स्टडी

नमस्कार मित्रों! आज हम आपके सामने हाजिर है एक नए लेख को लेकर जो एक ऐसे विषय पर चर्चा करता है जिसकी लोकप्रियता शायद कम होती जा रही है। इस विषय को आज की चर्चा का विषय चुनने का कारण यह है कि हम आजकल इस बारे में कम बात करने लग गए हैं और इसके महत्व को भूलते जा रहे हैं। इसीलिए यह चर्चा न सिर्फ महत्वपूर्ण है बल्कि आवश्यक भी है। तो मित्रों, आज हम बात कर रहे हैं स्वाध्याय या सेल्फ स्टडी के महत्व पर। मित्रों, इससे पहले कि हम इस लेख को शुरू करें हमारे पास...

View more
क्या आप खुश हैं : आइये चलें एक बेहतर जीवन की ओर

मित्रों, यदि आपसे यह सवाल पूछा जाए कि क्या आप अपने जीवन में खुश हैं तो आपका जवाब क्या होगा? कई लोगों के लिए यह प्रश्न काफी जटिल साबित होता है क्योंकि हर व्यक्ति के मन में अधूरी इच्छाएं और आकांक्षाएं होती हैं, और उन्हें नजरअंदाज करके यह कहना कि "हम खुश हैं" उनके लिए काफी मुश्किल बन जाता है। गौरतलब है कि ज्यादातर लोगों का जवाब हमेशा "ना" में होता है। भला ऐसा क्यों है ? जब हम से यह सवाल पूछा जाता है कि हम अपने जीवन में खुश हैं या नहीं, तब हम इस प्रश्न का अवलोकन...

View more
चरित्रवान कैसे बने

मित्रों, हम अपने जीवन में कई सारे लोगों से मिलते हैं। कुछ लोगों से मिलने के बाद हमारे मुख से स्वतः ही निकलता है कि वाह! कितना उत्तम चरित्र है। वहीं हम कभी-कभी कुछ ऐसे लोगों से भी दो-चार होते हैं जिनका व्यवहार एवं आचरण अनुचित होता है और हम इस निष्कर्ष पर पहुंचते हैं कि इस व्यक्ति का चरित्र ठीक नहीं है।चरित्र के मापदंड पर व्यक्ति के अच्छे या बुरे होने का पैमाना निर्भर करता है। अर्थात चरित्र एक महत्वपूर्ण गुण है। मित्रों, कहा जाता है कि चरित्र व्यक्ति के अंतर्मन का आईना होता है। चरित्र केवल शब्द मात्र...

View more

“जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता हैं, फिर चाहे वो “नींद” से हो, या “अहम्” से या फिर “वहम” से हो!”

आइए साक्षात्कार के डर को भगाएं

नमस्कार पाठकों ! आशा है कि आप सब ठीक होंगे और अपने कामों में व्यस्त होंगे। यूँ तो हमारी कोशिश हमेशा यही होती है कि अपने प्रत्येक लेख से हम पाठकों की सभी श्रेणी को संतुष्ट एवं आनंदित करें, किंतु आज का लेख खास तौर पर हमारे कुछ मित्रों के लिए है। हमारे पाठकों की सूची में जितने युवा मित्र हैं, आज का यह लेख उन सभी के लिए बहुत खास होने वाला है क्योंकि आज की चर्चा खास तौर पर युवाओं एवं उनके करियर से जुड़े एक महत्वपूर्ण विषय पर समर्पित है। मित्रों, आजकल युवा पढ़ाई एवं करियर को...

View more
परिक्षा के डर को दूर करने के लिए सुझाव

 नमस्कार मित्रों, आज का लेख ऐसे विषय पर आधारित है, जो खासकर विद्यार्थियों के लिए है। यह उन अभिभावकों के लिए भी उपयोगी है जिनके बच्चे स्कूल अथवा कॉलेज में शिक्षारत है। जैसा कि आप शीर्षक पढ़ कर समझ गए होंगे, आज के लेख में हम परीक्षा के बारे में चर्चा कर रहे हैं। मित्रों, अक्सर यह देखा जाता है कि बच्चे परीक्षा से बहुत डरते हैं। परीक्षा का नाम सुनकर ही उनके चेहरे उतर जाते हैं और ऐसा लगता है मानो यह उनके जीवन का सबसे डरावना अध्याय है। जी हां, कई छात्रों की स्थिति बिल्कुल ऐसी है।ऐसे में...

View more
वह कौन सी आदतें हैं जो आपको सफल बनाती हैं

नमस्कार मित्रों ! आशा है आप सब बिल्कुल ठीक हैं और कुछ नया पढ़ने के लिए लालायित है। आपकी इसी चाहत को ध्यान में रखते हुए हम आपके लिए एक बेहद उपयोगी लेख लेकर आए हैं।आज के लेख का शीर्षक तो आपने पढ़ लिया होगा। हो सकता है आप यह सोच रहे होंगे कि भला आदतें हमें कैसे सफल बना सकती हैं ? सफलता तो दिन - रात के कड़े परिश्रम, मजबूत हौसले, जज्बे और कुछ हद तक किस्मत पर निर्भर है। जी हाँ मित्रों! सफलता के लिए हमारी परिभाषा अक्सर इन्हीं गुणों पर निर्भर रहती है। पर इनके बीच...

View more
क्या है अवसाद और उससे जुड़े लक्षण?

नमस्कार मित्रों। आजकल एक शब्द चिकित्सा विज्ञान में बहुत प्रसिद्ध होता जा रहा है। वह शब्द है "अवसाद"।  यह समस्या आजकल काफी आम हो गई है। आज से कुछ दशक पहले लोग इसके नाम से भी वाकिफ नहीं थे, लेकिन आजकल यह समस्या काफी गंभीर रूप में हमारे बीच मौजूद है। मित्रों, यदि आप अभी तक अवसाद और इससे जुड़ी जानकारी से वंचित है तो आज का लेख आपको अवश्य पढ़ना चाहिए। चिकित्सा विज्ञान के लिए यह एक बीमारी है लेकिन आज के इस लेख में हम इसे एक बीमारी से ज्यादा मानसिक स्थिति के तौर पर देखेंगे। तो आइए,...

View more

“यदि आपने वास्तव में खुद से प्यार करना सिख लिया तो फिर यह संभव ही नहीं है की आपको ये दुनिया प्यारी ना लगे।”

जीवन में सफल होने के लिए भावनात्मक परिपक्वता कितनी ज़रूरी है ?

मित्रों, आज कल की जीवन शैली न सिर्फ फास्ट - फॉरवार्ड हो गई है, बल्कि जीवन काफी जटिल भी हो गया है। आजकल का दौर महत्वाकांक्षा, प्रतियोगिता, गतिशीलता और सफलता का दौर है। हर व्यक्ति बड़े सपने देखता है और अपने क्षेत्र में कामयाब होना चाहता है। इसे हासिल करने के लिए व्यक्ति अपने हर कौशल का संभव प्रयोग कर रहा है। इसीलिए यह जमाना मल्टीटास्किंग और मल्टी टैलेंटेड लोगों का है। लेकिन जीवन में कामयाबी हासिल करने के लिए परिश्रम और बुद्धिमता ही काफी नहीं है, बल्कि इसके लिए व्यक्ति में भावनात्मक परिपक्वता एवं संतुलन भी अति आवश्यक है,...

View more
सफलता पाने के लिए आवश्यक नीतियां

मित्रों, यदि आपने आज के लेख का शीर्षक पढ़ा होगा तो आपको उसमें एक शब्द नजर आएगा, "सफलता"। यह शब्द पढ़ते ही आप में से कई लोगों के मन में वह सपने दोबारा से जागृत हो गए होंगे, जो आपने अपने लिए देखे हैं।जी हां मित्रों, जीवन में सफलता पाना हर किसी का ख्वाब होता है। बचपन से ही हमें यह सिखाया जाता है कि हमें बड़े होकर पायलट, डॉक्टर, इंजीनियर या गायक या फिर फोटोग्राफर आदि बनना है। अर्थात अपनी पहचान बनाने और सफल होने का विचार बचपन से ही हमारे अंदर विकसित किया जाता है। और हो भी...

View more
प्रियजन को खोने के शोक से कैसे उबरे : सुझाव

मित्रों, मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। समाज, परिवार और संबंधी हमारे जीने का सहारा होते हैं। हम सबके जीवन में या तो हमारे परिवार के सदस्य, अथवा कोई घनिष्ठ मित्र, या कोई संबंधी हमारे ह्रदय के बहुत निकट होते हैं, जिनसे हम बहुत अधिक प्रेम करते हैं।माता-पिता, मित्र, दादा - दादी, पत्नी - पति, भाई-बहन इत्यादि, यह वह रिश्ते हैं, जो हमारे जीवन का आधार होते हैं।हम इनसे प्यार करते हैं, इनकी चिंता करते हैं, इनका ख्याल रखते हैं। ऐसे में इन सभी प्रिय जनों के बिना जीवन यापन करना असंभव हो जाता है क्योंकि हम इन संबंधों और अपने...

View more
वृक्ष हमें क्या सिखाते हैं

 नमस्कार मित्रों, स्वागत है आपका आज के लेख में। आज की चर्चा थोड़ी अलग है।  आज का यह लेख आप को प्रेरणा देने वाला और बहुत कुछ सिखाने वाला है । लेकिन आज यह प्रेरणा न तो आप किसी मशहूर शख्स से, न किसी सफल उद्योगपति से, या फिर किसी व्यक्ति से नहीं लेने जा रहे हैं।आज के लेख में आपको प्रेरणा से भरने के लिए हमने वृक्षों का चुनाव किया है। आपको शीर्षक देखकर यह तो पता चल ही गया होगा कि आज हम वृक्षों की बात कर रहे हैं और हो सकता है आप आश्चर्य कर रहे हो...

View more

“गलतियां हमेशा क्षमा की जा सकती हैं, यदि आपके पास उन्हें स्वीकारने का साहस हो। — Bruce Lee

आप अपने मन के मालिक हैं या नौकर?

 मन दो अक्षरों से बना है। यह हमारे जीवन के सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है। सारी इंद्रियों का स्वामी यही मन है जो अपरिमित शक्तियां अपने अंदर समेटे हुए हैं। यही शक्तियां हमारे जीवन की दिशा एवं दशा तय करते हैं। कहा जाता है किमन के हारे हार है, मन के जीते जीत। अर्थात असल जिंदगी में आप तभी हारते हैं जब आप मन से हार मान लेते हैं और यदि आपने मन में ठान लिया है कि आप जीतेंगे तो जीत निश्चित है। अद्भुत शक्तियों का स्वामी यह मन क्या नहीं कर सकता?एक कवि का मन कल्पना...

View more
युवाओं को सफल होने से क्या रोक रहा है

नमस्कार मित्रों ! आज का लेख हमारे युवा मित्रों के लिए बहुत खास होने वाला है। युवावस्था की बात आते ही मन में जोश, उत्साह व कुछ नया कर दिखाने के विचार भर जाते हैं। यह उम्र ही ऐसी है जब व्यक्ति कुछ करने के लिए प्रेरित रहता है।युवावस्था के बारे में बात करें, तो यह कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि यह चरण जीवन का सबसे सुंदर और सबसे महत्वपूर्ण चरण होता है जहां व्यक्ति के आगे की जीवन की पूर्ण रूप रेखा निश्चित होती है। उसका चरित्र, उसकी पहचान, उसका पेशा, इज्जत, इत्यादि सब कुछ इसी युवावस्था मैं निश्चित...

View more
सकरात्मक लोगों का दृष्टिकोण

मित्रों, हर व्यक्ति के जीवन में सुख और दुख आते रहते हैं। यह जीवन का केवल हिस्सा ही नहीं, बल्कि जीवन का यथार्थ, अर्थात जीवन की सच्चाई है।ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जिसके जीवन में कभी दुख, मुश्किल, तकलीफ या कठिनाइयां ना आई हो। केवल सुख की चाह कभी पूरी नहीं हो सकती क्योंकि सुख और दुख एक ही गाड़ी के दो पहियों के समान है। एक के भी बिना गाड़ी नहीं चल सकती। सुख और दुख के यह दो पहिए जीवन की गाड़ी में संतुलन बनाए रखते हैं। सुख के क्षण हमें बहुत अच्छे लगते हैं लेकिन जब...

View more
डर पर विजय कैसे प्राप्त करें

 नमस्कार मित्रों ! आप अपने जिस सवाल का जवाब ढूंढते हुए इस लेख तक आए हैं, उसका जवाब आपको जरूर मिलेगा।जी हां ! आप बिल्कुल सही जगह आए हैं। हम जानते हैं कि आप अपने जीवन में किसी न किसी डर से परेशान हैं और उस पर काबू पाकर उसे हराना चाहते हैं। अपने डर पर जीत हासिल करने का आपका यह फैसला काबिले तारीफ़ है और आपके इसी हौसले को आगे बढ़ाने के लिए हमने यह लेख लिखा है।तो आइए सबसे पहले बात करें कि डर आखिर है क्या? मित्रों, मनुष्य के अंदर कई सारी भावनाएं होती हैं जैसे...

View more

“प्यार वो है जब आप दूसरे की खुशियों को अपने से अधिक मायने देते है| — Jackson Brown

सुबह जल्दी उठने के 8 फायदे

सुबह की नींद किसे प्यारी नहीं होती ? सुबह की नींद का मजा ही कुछ और होता है। खिड़की से आती ताजा ठंडी हवाएं और शांति , मानो हमें सोते रहने को कहती हैं और इस वातावरण में हमारा मन चादर ओढ़ कर चैन की नींद लेने का करता है ।यदि हम सुबह उठना चाह रहे हो, या फिर हमारे कोई जरूरी काम हो, तब भी हम देर तक सोना ही पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यदि आप देर तक सोने के विचार को त्याग कर कोशिश करें और सुबह जल्दी उठे तो इससे आपको एक...

View more
सचिन तेंदुलकर की सफलता के नियम

 सचिन रमेश तेंदुलकर एक ऐसा नाम है, जिससे न केवल भारत में, बल्कि पूरी दुनिया में बच्चों से लेकर बूढ़े तक वाक़िफ़ हैं। जब-जब क्रिकेट की बात आती है, तब - तब सचिन  तेंदुलकर का नाम जरूर लिया जाता है। क्रिकेट की चर्चा सचिन तेंदुलकर के नाम के बिना हमेशा अधूरी रहेगी। या फिर यह कहें कि सचिन के बिना क्रिकेट अधूरा है, तो यह भी कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। भारतीय क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर का योगदान अतुलनीय एवं अद्वितीय है। अपने बेहतरीन प्रदर्शन से उन्होंने न सिर्फ पूरी दुनिया में भारतीय क्रिकेट टीम का लोहा मनवाया, बल्कि कई ऐसे...

View more
असफलताओं से कैसे लड़ें

सफलता किसकी चाहत नहीं होती? परंतु जीवन के किसी न किसी मोड़ पर हमें असफलताओं से दो-चार होना ही पड़ता है। असफलता चाहे बड़ी हो या छोटी, निराशा अवश्य होती है। लेकिन जरूरत है इस वक्त खुद को संभाल कर असफलता से लड़ने और एक बार फिर सफलता की ओर अपने कदम बढ़ाने की। यदि आप भी कभी असफल हुए हो तो मन में नए उत्साह के साथ असफलता से सफलता की ओर जाने के इस सफर में हमारे साथ चलिए। यह लेख केवल आपके लिए ही नहीं, बल्कि उन सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित होगा जो अपने जीवन...

View more
सहनशीलता से क्रोध पर विजय पाएँ

मित्रों, आज का लेख बहुत विशेष है। आज के लेख में हम और आप मिलकर अपने व्यक्तित्व में कुछ सकारात्मक सुधार लाने का प्रयास करेंगे। लेकिन इससे पहले हमारे पास कुछ सवाल हैं जिन्हें आपको पढ़ना चाहिए। मित्रों, क्या आपके साथ भी ऐसा होता है कि आप बहुत जल्दी उत्तेजित हो जाते हैं? या फिर आप किसी के द्वारा कहे गए कड़वे शब्दों को सहन नहीं कर पाते ?या अपनी आलोचना होती देख आप क्रोध से भर जाते हैं? आप में से कई लोग ऐसे होंगे जिनका इन प्रश्नों से सरोकार होगा। क्योंकि हममें से कई इस परिस्थिति से दो-चार...

View more

“ज़िन्दगी में कुछ चीज़ें ऐसी होती है जिन्हें सिर्फ़ वक़्त ही बदल सकता है तो वक़्त को थोड़ा वक़्त दीजिए।”