कैसे रोके नकारात्मक सोच -20 टिप्स

कैसे रोके नकारात्मक सोच -20 टिप्स



आपके अंदर जितने ज्यादा समय तक नकारात्मक विचार हावी रहे हैं, उससे बाहर निकलने में उतनी ही मुश्किल आती है। वर्तमान में रहने का प्रयास करें। अपना दिमाग आज या अभी जो कुछ हो रहा है, उसी पर केंद्रित रखें।

1 सफलता की उम्मीद :-

नकारात्मक विचारों पर विश्वास करना सफलता की सबसे बड़ी रूकावट हैं।इसलिए सफलता रूपी विचार नकारात्मक सोच से परे होना चाहिए |

2. सकारात्मक सोच :-

नकारात्मक पर ज्यादा ध्यान दें और अपने जीवन में सकारात्मक पर ध्यान केंद्रित करें। सही रवैया अपनाने से नकारात्मक तनाव को सकारात्मक रुप में बदल सकते हैं।सकारात्मक सोच रखे विचार भी सकारात्मक ही आएँगे |

4 आत्मविश्वास बनाए रखें:-

आत्मविश्वास की कमी ना आने दें क्योंकि ज्यादातर लोग आत्मविश्वास की कमी से नकारात्मक सोच के शिकार बनते हैं।

5 अतीत से दूर रहे :-

अपने अतीत के बारे में मत सोचों क्योंकि अतीत की गलतियों या भविष्य बनाने की चिंता ही नेगेटिव थिंकिंग का मुख्य स्रोत हैं।

6 व्यस्त रहे :-

हमेशा कुछ ना कुछ करते रहें अपने आप को व्यस्त रखें, कुछ काम नहीं है तो पॉजिटिव गाने सुनें या किताब पढ़ें।

7 अच्छी संगती :-

ऐसे लोगों के साथ रहें जो खुश रहते है | हमेशा खुश रहने और हँसते रहने की कोशिश करें।

8 गलतियों से घबराए नहीं :-

अगर कोई आपकी गलतियों पर हँस रहा है तो खुद को गलत मत समझो बल्कि सोचो की जिस - जिस पर जमाना हँसा है उसी ने इतिहास रचा हैं।

10 अपनी बॉडी लैंग्वेज को बदलें :-

अपनी बॉडी लैंग्वेज पर ध्यान दे। कही आप सुस्त तो नहीं हैं ? सुस्ती व्यक्ति में नकारात्मकता को बढाती है। हमेशा ऊर्जावान रहने की कोशिश करें।अपने बैठने, उठने चलने पर ध्यान दें। झुक कर बैठनेचलने की बजाये सीधा बैठे और चलें। नार्मल (normal) से थोड़ा तेज चलें। सिर झुककर नहीं बल्कि आँखें मिलाकर बातें करें। मुरझाया चेहरा नहीं, एक मुस्कुराता चेहरा रखें।

11 अपना आत्मविश्वास बढ़ाये :-

नकारात्मक विचारों की सबसे गहरी जड़ है आत्मविश्वास का कम होना। आपको अपने आत्मविश्वास को बढ़ाना होगा। यदि आप अपना आत्मविश्वास बढ़ाना चाहते हैं |

12 अपने दिमाग को शांत रखें :-

आपने ध्यान दिया होगा जब हमारे दिमाग में उथल पुथल होती हैं यानि हमारा मन अशांत होता हैं तभी नेगेटिव थॉट्स (negative thoughts) आना शुरू हो जाते हैं। जब भी दिमाग में अशांति हो एक जगह बैठ जाएँ और गहरी गहरी सांसे ले और अपने दिमाग को शांत होता महसूर करें। जब आपका दिमाग शांत हो जायेगा तो नकारात्मक विचार नहीं आएंगे। यदि आएं तो आप ऊपर के पोइन्स (points) को अपनाएं।

13 समस्याओं को हल करने का प्रयास करें :-

जब भी कोई समस्या आये तो समस्या पर ध्यान केंद्रित करने के बजायें समाधान खोजियें। सकारात्मक सोच रखते हुए जब आप समस्याओं को हल करने का तरीका खोजेंगे तो नकारात्मक विचार आना बंद हो जायेंगे।

14 गलत संगत से दूर रहें:-

हमारे दिमाग में नकारात्मक सोच भरने के लिए हमारी संगत बहुत योगदान देती है। अगर आप कुछ करने की सोचते हो तो बुरी संगत में से कोई आपको उससे रोकेगा। बुरी संगत करने से आदमी सिर्फ नकारात्मक बनता है बल्कि गलत आदतों जैसे सिगरेट, शराब, गांजा जैसे कई गलत आदतों में पड़ता है।

15 कर्म करें फल की चिंता नहीं करें:-

महाभारत में भी कृष्ण ने अर्जुन को यही सलाह दी थी आप कर्म करते चलो फल की चिंता करो। अक्सर हमने देखा है बहुत सारे दोस्त किसी भी काम को करने से पहले उसका रिजल्ट (result) देख लेते हैं और सोच लेते हैं कि यह काम मुझसे नहीं होगा अभी काम को शुरू भी नहीं किया। ये नकारात्मक सोच अपने दिमाग से निकालों और अगर आपको उससे कुछ नहीं मिलता तो सिखने को बहुत कुछ मिलेगा।

16 खुद के कामों पर गर्व करें:-

आपके दिमाग में सकारात्मक सोच तब तक नहीं आएगी जब तक आप अपने द्वारा किये गए कामो से खुश नहीं रहेंगे। ज़िन्दगी में खुश रहने का भी यही एक राज है। अगर आप सोचेंगे की मैं बहुत पीछे हूँ और मेरे दोस्त या कोई और मुझसे कई आगे है तो आप नकारात्मक ही रह जाओगे। बल्कि ये सोचें की मैंने बहुत अच्छे काम किये हैं और अपने दिमाग को सांत्वना देकर कुछ और बड़ा करने की सोच रखें।

17 दूसरों से ईर्ष्या नहीं रखें:-

किसी दूसरे के कामों और उसके सफलता पर ईर्ष्या नहीं करें बल्कि ये दिमाग में बिठायें की उस काम को वह कर सकता है तो मैं क्यों नहीं। अपने आप में एक जूनून तैयार करें और उससे बेहतर बनाने की सोच रखें। खुद के कामों पर गर्व करें I

18 व्यायाम या योगा:-

व्यायाम या योगा करने से सिर्फ हमारा शरीर स्वस्थ होता है बल्कि इससे हमारे मानसिक विकास में भी बदलाव आता है। रोजाना 30 मिनट योग, प्राणायाम या व्यायाम करना अच्छा रहता है। इससे आपके दिमाग में अच्छे positive thoughts आते हैं और मिजाज भी खुश रहता है, साथ ही पूरा दिन शरीर में एक नयी उम्मंग रहती है।

19 भगवान की पूजा करें:-

पुरे दिन में नयी शक्ति और स्वयं की रक्षा करने के लिए आप सवेरे अपने भगवान् की पूजा करें। इससे आप अपने भगवान् को भी खुश कर सकते हैं साथ ही अपने दिन को शानदार बनाने के लिए प्राथना कर सकते हैं। उनकी कृपा आप पर बनी रहती है और आपको भी विश्वास रहता है कि मेरा कोई भी काम सफल होगा क्यूंकि मेरे भगवान् मेरे साथ हैं।

20 भरपूर नींद ले :-

कम से कम 8 से 10 घंटे की नींद लेना बहुत जरुरी है, स्वस्थ मस्तिष्क में सिर्फ अच्छे विचार ही आते है, नकारात्मक विचारो से दूर रहने के लिए भरपूर नींद लेना बहुत जरुरी है |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों