जीवन में सफल होने के लिए भावनात्मक परिपक्वता कितनी ज़रूरी है ?

मित्रों, आज कल की जीवन शैली न सिर्फ फास्ट - फॉरवार्ड हो गई है, बल्कि जीवन काफी जटिल भी हो गया है। आजकल का दौर महत्वाकांक्षा, प्रतियोगिता, गतिशीलता और सफलता का दौर है। हर व्यक्ति बड़े सपने देखता है और अपने क्षेत्र में कामयाब होना चाहता है। इसे हासिल करने के लिए व्यक्ति अपने हर कौशल का संभव प्रयोग कर रहा है। इसीलिए यह जमाना मल्टीटास्किंग और मल्टी टैलेंटेड लोगों का है। लेकिन जीवन में कामयाबी हासिल करने के लिए परिश्रम और बुद्धिमता ही काफी नहीं है, बल्कि इसके लिए व्यक्ति में भावनात्मक परिपक्वता एवं संतुलन भी अति आवश्यक है,...

View more
सफलता पाने के लिए आवश्यक नीतियां

मित्रों, यदि आपने आज के लेख का शीर्षक पढ़ा होगा तो आपको उसमें एक शब्द नजर आएगा, "सफलता"। यह शब्द पढ़ते ही आप में से कई लोगों के मन में वह सपने दोबारा से जागृत हो गए होंगे, जो आपने अपने लिए देखे हैं।जी हां मित्रों, जीवन में सफलता पाना हर किसी का ख्वाब होता है। बचपन से ही हमें यह सिखाया जाता है कि हमें बड़े होकर पायलट, डॉक्टर, इंजीनियर या गायक या फिर फोटोग्राफर आदि बनना है। अर्थात अपनी पहचान बनाने और सफल होने का विचार बचपन से ही हमारे अंदर विकसित किया जाता है। और हो भी...

View more
प्रियजन को खोने के शोक से कैसे उबरे : सुझाव

मित्रों, मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। समाज, परिवार और संबंधी हमारे जीने का सहारा होते हैं। हम सबके जीवन में या तो हमारे परिवार के सदस्य, अथवा कोई घनिष्ठ मित्र, या कोई संबंधी हमारे ह्रदय के बहुत निकट होते हैं, जिनसे हम बहुत अधिक प्रेम करते हैं।माता-पिता, मित्र, दादा - दादी, पत्नी - पति, भाई-बहन इत्यादि, यह वह रिश्ते हैं, जो हमारे जीवन का आधार होते हैं।हम इनसे प्यार करते हैं, इनकी चिंता करते हैं, इनका ख्याल रखते हैं। ऐसे में इन सभी प्रिय जनों के बिना जीवन यापन करना असंभव हो जाता है क्योंकि हम इन संबंधों और अपने...

View more
आप अपने मन के मालिक हैं या नौकर?

 मन दो अक्षरों से बना है। यह हमारे जीवन के सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है। सारी इंद्रियों का स्वामी यही मन है जो अपरिमित शक्तियां अपने अंदर समेटे हुए हैं। यही शक्तियां हमारे जीवन की दिशा एवं दशा तय करते हैं। कहा जाता है किमन के हारे हार है, मन के जीते जीत। अर्थात असल जिंदगी में आप तभी हारते हैं जब आप मन से हार मान लेते हैं और यदि आपने मन में ठान लिया है कि आप जीतेंगे तो जीत निश्चित है। अद्भुत शक्तियों का स्वामी यह मन क्या नहीं कर सकता?एक कवि का मन कल्पना...

View more

“जल्दी जागना हमेशा ही फायदेमंद होता हैं, फिर चाहे वो “नींद” से हो, या “अहम्” से या फिर “वहम” से हो!”

युवाओं को सफल होने से क्या रोक रहा है

नमस्कार मित्रों ! आज का लेख हमारे युवा मित्रों के लिए बहुत खास होने वाला है। युवावस्था की बात आते ही मन में जोश, उत्साह व कुछ नया कर दिखाने के विचार भर जाते हैं। यह उम्र ही ऐसी है जब व्यक्ति कुछ करने के लिए प्रेरित रहता है।युवावस्था के बारे में बात करें, तो यह कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि यह चरण जीवन का सबसे सुंदर और सबसे महत्वपूर्ण चरण होता है जहां व्यक्ति के आगे की जीवन की पूर्ण रूप रेखा निश्चित होती है। उसका चरित्र, उसकी पहचान, उसका पेशा, इज्जत, इत्यादि सब कुछ इसी युवावस्था मैं निश्चित...

View more
सकरात्मक लोगों का दृष्टिकोण

मित्रों, हर व्यक्ति के जीवन में सुख और दुख आते रहते हैं। यह जीवन का केवल हिस्सा ही नहीं, बल्कि जीवन का यथार्थ, अर्थात जीवन की सच्चाई है।ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जिसके जीवन में कभी दुख, मुश्किल, तकलीफ या कठिनाइयां ना आई हो। केवल सुख की चाह कभी पूरी नहीं हो सकती क्योंकि सुख और दुख एक ही गाड़ी के दो पहियों के समान है। एक के भी बिना गाड़ी नहीं चल सकती। सुख और दुख के यह दो पहिए जीवन की गाड़ी में संतुलन बनाए रखते हैं। सुख के क्षण हमें बहुत अच्छे लगते हैं लेकिन जब...

View more
डर पर विजय कैसे प्राप्त करें

 नमस्कार मित्रों ! आप अपने जिस सवाल का जवाब ढूंढते हुए इस लेख तक आए हैं, उसका जवाब आपको जरूर मिलेगा।जी हां ! आप बिल्कुल सही जगह आए हैं। हम जानते हैं कि आप अपने जीवन में किसी न किसी डर से परेशान हैं और उस पर काबू पाकर उसे हराना चाहते हैं। अपने डर पर जीत हासिल करने का आपका यह फैसला काबिले तारीफ़ है और आपके इसी हौसले को आगे बढ़ाने के लिए हमने यह लेख लिखा है।तो आइए सबसे पहले बात करें कि डर आखिर है क्या? मित्रों, मनुष्य के अंदर कई सारी भावनाएं होती हैं जैसे...

View more
सुबह जल्दी उठने के 8 फायदे

सुबह की नींद किसे प्यारी नहीं होती ? सुबह की नींद का मजा ही कुछ और होता है। खिड़की से आती ताजा ठंडी हवाएं और शांति , मानो हमें सोते रहने को कहती हैं और इस वातावरण में हमारा मन चादर ओढ़ कर चैन की नींद लेने का करता है ।यदि हम सुबह उठना चाह रहे हो, या फिर हमारे कोई जरूरी काम हो, तब भी हम देर तक सोना ही पसंद करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यदि आप देर तक सोने के विचार को त्याग कर कोशिश करें और सुबह जल्दी उठे तो इससे आपको एक...

View more

“यदि आपने वास्तव में खुद से प्यार करना सिख लिया तो फिर यह संभव ही नहीं है की आपको ये दुनिया प्यारी ना लगे।”

सचिन तेंदुलकर की सफलता के नियम

 सचिन रमेश तेंदुलकर एक ऐसा नाम है, जिससे न केवल भारत में, बल्कि पूरी दुनिया में बच्चों से लेकर बूढ़े तक वाक़िफ़ हैं। जब-जब क्रिकेट की बात आती है, तब - तब सचिन  तेंदुलकर का नाम जरूर लिया जाता है। क्रिकेट की चर्चा सचिन तेंदुलकर के नाम के बिना हमेशा अधूरी रहेगी। या फिर यह कहें कि सचिन के बिना क्रिकेट अधूरा है, तो यह भी कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। भारतीय क्रिकेट में सचिन तेंदुलकर का योगदान अतुलनीय एवं अद्वितीय है। अपने बेहतरीन प्रदर्शन से उन्होंने न सिर्फ पूरी दुनिया में भारतीय क्रिकेट टीम का लोहा मनवाया, बल्कि कई ऐसे...

View more
असफलताओं से कैसे लड़ें

सफलता किसकी चाहत नहीं होती? परंतु जीवन के किसी न किसी मोड़ पर हमें असफलताओं से दो-चार होना ही पड़ता है। असफलता चाहे बड़ी हो या छोटी, निराशा अवश्य होती है। लेकिन जरूरत है इस वक्त खुद को संभाल कर असफलता से लड़ने और एक बार फिर सफलता की ओर अपने कदम बढ़ाने की। यदि आप भी कभी असफल हुए हो तो मन में नए उत्साह के साथ असफलता से सफलता की ओर जाने के इस सफर में हमारे साथ चलिए। यह लेख केवल आपके लिए ही नहीं, बल्कि उन सभी लोगों के लिए उपयोगी साबित होगा जो अपने जीवन...

View more
सहनशीलता से क्रोध पर विजय पाएँ

मित्रों, आज का लेख बहुत विशेष है। आज के लेख में हम और आप मिलकर अपने व्यक्तित्व में कुछ सकारात्मक सुधार लाने का प्रयास करेंगे। लेकिन इससे पहले हमारे पास कुछ सवाल हैं जिन्हें आपको पढ़ना चाहिए। मित्रों, क्या आपके साथ भी ऐसा होता है कि आप बहुत जल्दी उत्तेजित हो जाते हैं? या फिर आप किसी के द्वारा कहे गए कड़वे शब्दों को सहन नहीं कर पाते ?या अपनी आलोचना होती देख आप क्रोध से भर जाते हैं? आप में से कई लोग ऐसे होंगे जिनका इन प्रश्नों से सरोकार होगा। क्योंकि हममें से कई इस परिस्थिति से दो-चार...

View more
निश्चित दिनचर्या का जीवन पर प्रभाव

 दोस्तों, शीर्षक पढ़कर आप जान गए होंगे कि आज की चर्चा का विषय "दिनचर्या" है।  गौरतलब है कि व्यक्ति की दिनचर्या उसके पूरे जीवन की रूपरेखा तय करने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। लेकिन इस तथ्य पर विरले ही लोगों का ध्यान जाता है। आज इसी तथ्य को उजागर करने के लिए हम आपके सामने यह लेख लेकर आए हैं। तो चलिए सबसे पहले यह जानते हैं कि आखिर दिनचर्या होती क्या है? दोस्तों, हम जो कार्य नित्य प्रतिदिन करते हैं, वह हमारी दिनचर्या कहलाती है। सुबह से लेकर रात तक के वह सभी कार्य, जो हम लगभग रोज...

View more

“गलतियां हमेशा क्षमा की जा सकती हैं, यदि आपके पास उन्हें स्वीकारने का साहस हो। — Bruce Lee

सफलता का मूलमंत्र : संयम

" धैर्य बहुत ही महत्वपूर्ण है। बूंद-बूंद करके ही जग भरता है।" यह प्रसिद्ध विचार संसार को अपने ज्ञान से मार्गदर्शन देने वाले महात्मा बुद्ध का है। अपने इस कथन में महात्मा बुद्ध ने बहुत महत्वपूर्ण बात पर प्रकाश डाला है। यहां उन्होंने बताया है कि किसी भी कार्य को संपन्न होने में समय लगता है। अर्थात लक्ष्य की प्राप्ति की प्रक्रिया ऐसी है, जिसमे एक निश्चित समय लगता है। मंजिल तक पहुंचने और सफलता पाने तक के इंतजार में वह गुण जो सबसे महत्वपूर्ण है, वह है संयम। जी हां मित्रों, धैर्य, धीरज, या संयम ही वह गुण है,...

View more
विद्यार्थियों के लिए प्रेरणादायक श्लोक व उनके अर्थ

 नमस्कार मित्रों!  आज के लेख में हम "विद्यार्थी जीवन" पर चर्चा कर रहे हैं। विद्यार्थी जीवन हमारे जीवन के सबसे महत्वपूर्ण चरणों में से एक है। यही वह चरण है, जहां व्यक्ति के जीवन की दिशा एवं दशा तय होती है। अतः विद्यार्थी जीवन में ज्ञान अर्जित करने एवं जीवन के आवश्यक मूल्यों को सीखने पर ज़ोर दिया जाता है। ज्ञान प्राप्ति, रीति का ज्ञान, नैतिक मूल्य इत्यादि विद्यार्थी जीवन की प्राथमिकता होते हैं।  क्योंकि यही ज्ञान एवं यही मूल्य आगे जाकर व्यक्ति के चरित्र का निर्माण करते हैं और उन्हें सफल बनाते हैं। इसीलिए यह अत्यंत आवश्यक हो जाता...

View more
बहाने बनाने की आदत : सफलता में सबसे बड़ी रुकावट

 इस लेख को शुरू करने से पहले हमने आपके लिए कुछ वाक्य लिखे हैं। इन्हें ध्यान से पढ़ें। "आज मन नहीं कर रहा।" "मुझसे यह नहीं हो पाएगा।" "कहीं मैं असफल हो गया तो क्या होगा? इस काम को छोड़ देना चाहिए।""बाद में कर लूँगा।"इन सभी वाक्यों में एक बात समान है। यह सभी वाक्य किसी न किसी तरीके से किसी काम को टालने की बात कर रहे हैं या उस काम के प्रति व्यक्ति की अनिच्छा को दर्शा रहे हैं। क्या आपकी बोलचाल में भी इस तरह के वाक्य शामिल हैं? क्या आप अक्सर इनका प्रयोग करते हैं? यदि...

View more
पुरानी गलतियों से कैसे सीखे और आगे बढे

हर व्यक्ति जिंदगी में कई गलतिया करता है। दुनिया में ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जो बिना असफल हुए सफल हुआ हो। जो कर्म करता है वही गलतिया करता है। आपने यदि कोई गलती नहीं की है तो इसका अर्थ यह है कि आपने कभी कुछ नया करने और नया सीखने की कोशिश ही नहीं की है। यदि लगातार प्रयास किया जाए तो असफलता भी सफलता में बदल जाती है। लेकिन सबसे अधिक जरुरत इस बात की है कि हम अपनी गलतियों से लगातार सीखते रहे और सफल होने की कोशिश करते रहे। असफलता एक ऐसी सीढी है जिस पर...

View more

“प्यार वो है जब आप दूसरे की खुशियों को अपने से अधिक मायने देते है| — Jackson Brown

सफल होने की मानसिकता कैसे बनाये

हम सभी सफल और सुखी जिंदगी जीना चाहते है। हम सभी के कई लक्ष्य होते है जिन्हे हम प्राप्त करना चाहते है। ये लक्ष्य घर, परिवार, पढाई, और बिज़नेस आदि से सम्बंधित होते है। बिना सफलता की मानसिकता के लक्ष्य को प्राप्त करना असंभव है। यदि आप सफलता की मानसिकता बना लेंगे तो आपको लक्ष्य प्राप्त करने में आसानी होगी और आप कम समय में सफल हो जायेंगे। आप अपने लिए नए अवसर बना पाएंगे और हो सकता है कि आप अपने लक्ष्य से भी अधिक सफल हो जाए। सफल होने की मानसिकता बनाये रखने के लिए कुछ बातो का...

View more
प्रेरणा कैसे प्राप्त करे

प्रेरणा एक ऐसा कारण है जो लोगों को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए तैयार करती है।  मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह अपनी सोच और विचारों के साथ जीता है। उसे कहीं ना कहीं से जाने अनजाने में प्रेरणा जरूर मिलती है। वह दोस्तों से रिश्तेदारों से पड़ोसियों से समाचार पत्र और पत्रिकाओं से या टीवी आदि से प्रेरणा प्राप्त करता ही रहता है। प्रेरणा असफल व्यक्ति को सफलता की ओर ले जाती है। प्रेरणा हमें हमारे लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रेरित करती है। प्रेरणा व्यक्ति की सोच और विचारों को बदल देती है। वह अपने...

View more
क्रोध पर शिक्षाप्रद श्लोक

नमस्कार पाठकों! आज हम क्रोध पर चर्चा कर रहे हैं। हम सभी जानते हैं कि क्रोध एक ऐसा भाव है, जिसमें व्यक्ति के सोचने एवं विचार करने की शक्ति क्षीण हो जाती है एवं वह इस वेग में कई अनुचित कार्य कर जाता है। क्रोध में आने पर मनुष्य सामान्य स्थिति में नहीं रहता और इसी कारण वह बहुत कुछ ऐसा बोल अथवा कर देता है जो उसे नहीं करना चाहिए। क्रोध के कारण हमारी मानसिक शांति तो भंग होती ही है, साथ ही हमारे संबंधों के ऊपर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।  ऐसा नहीं है कि क्रोध के इन...

View more
आत्म सम्मान को बढ़ाने के उपाय

आत्म सम्मान उस विश्वास को कहा जाता है जो आप खुद पर करते हैं और पूरी दुनिया को दिखाते है। दूसरे शब्दों में यह कहा जा सकता है कि आत्मसम्मान उस विश्वास को कहा जा सकता है जो आप किसी काम को करने में उपयोग करते हैं। आप स्वयं यह निश्चित करते हैं कि किसी कार्य को करने में आप कितने सक्षम हैं और आप अपनी भावनाओ पर कैसे नियंत्रण करते हैं। आत्म सम्मान मनोविज्ञान में उपयोग किया जाने वाला एक शब्द है जो व्यक्ति की भावनाओं को दर्शाता है। यह आपके प्रति एक दृढ नजरिया और दृष्टिकोण है। आत्म...

View more

“ज़िन्दगी में कुछ चीज़ें ऐसी होती है जिन्हें सिर्फ़ वक़्त ही बदल सकता है तो वक़्त को थोड़ा वक़्त दीजिए।”