सफलता के लिए ज्ञान की बाते

सफलता के लिए ज्ञान की बाते

  

सफलता हर इंसान को चाहिए है आज कल, सभी चाहते है की वह एक सफल व्यक्ति बने उनके पास हर चीज हो, लोग उनके जैसा बनने के सपने देखे, परन्तु सफलता है क्या ? सिर्फ पैसा होना सफलता है ? सिर्फ परिवार होना सफलता है ? सिर्फ नाम होना सफलता है ? आज हम इसी बात पर विचार करेंगे की आखिर सफलता है क्या और इसपर हम कैसे विजय प्राप्त कर सकते है |

एक सफल व्यक्ति के बारे में सोचे जैसे अमिताभ बच्चन जी हम सभी के दिमाग में आता है वह बहुत सफल है उनके पास सब कुछ है हम सभी उनके जैसा बनना चाहते है उनसे मिलकर उनकी सफलता का राज़ जानना चाहते है परन्तु हमें उनका संघर्ष नहीं पता है हमें नहीं पता है इतने सफल होने के बाद भी वह अपनी जिंदगी से खुश है की नहीं दूर से हमें हर चीज सुन्दर ही दिखती है |

सफलता क्या है :-

सही शब्दों में कहा जाए तो आप एक छोटे से मजदुर हो या बहुत बड़े व्यापारी, आपको आपके काम के लिए कम पैसा मिल रहा हो या ज्यादा, आप वर्तमान समय जो भी काम कर रहे हो अगर आप अपने काम से खुश हो, संतुष्ट हो, तो आप "सफल" हो | यही सफलता की परिभषा है सही मायनो में | अगर आप आपके काम से खुश नहीं हो भले ही फिर आपकी सैलरी लाखो में क्यों ना हो आप कामयाब नहीं हो| आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति अपनी जिंदगी में सफल होने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है |

हम सभी चाहते है की हम अपनी जिंदगी में ऐसा मुकाम हासिल कर ले जहा से पूरी दुनिया हमें जानने लगे लेकिन कभी-कभी हम काफी मेहनत करने के बाद भी असफल हो जाते है सफलता वास्तव में ख़ुशी से है मेहनत से है |अगर हम असफल हो रहे है तो निश्चित ही या तो हम खुश नहीं है या हमें पूरी लगन से वह कार्य नहीं किया होगा |

सफलता प्राप्त के लिए कुछ निन्मलिखित बिन्दुओ पर विचार करते है जो हमें हमेशा मदद करेंगे :-

समय अवधि :-

किसी भी सफलता के लिए एक मूलमंत्र है समय अवधी |अगर हम हमारे कार्य को पूरी लगन के साथ निश्चित समय अवधी को ध्यान में रख कर करते हो तो आपकी सफलता निश्चित है | सफलता हमारे मन की ख़ुशी है, अगर हम समय का दुरूपयोग करते हुए कार्य करेंगे तो हम कभी सफल नहीं हो पाएंगे |

आत्मविश्वासी रहे :-

जीवन में कई परिस्थिति आती है जब हमारा आत्मविश्वास डगमगाने लगता है यही परीक्षा का समय होता है आत्मविश्वास की कमी होने से हम किसी काम को करने से पहले ही हर मान जाते है इसलिए जिंदगी में सफलता पानी हो तो हमेशा आत्मविश्वासी रहे |

सकारात्मक सोच :-

यह जरुरी नहीं है की हमेशा हमारे साथ अच्छा ही हो कभी हमारा अच्छा समय आता है तो कभी बुरा, कभी सुख तो कभी दुःख | हमें कोई भी परिस्थिति में संयम नहीं खोना चाहिए और विवेक से काम लेना चाहिए |इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचे, नकारात्मक सोच से हम परेशान रहने लगते है स्वाभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है इस स्थिति में आप कोई निर्णय नहीं ले पाते है और इससे अच्छा काम भी बिगड़ सकता है |

लक्ष्य की योजना बनाए :-

अगर जीवन में सफल होना है तो लक्ष्य निर्धारण के साथ-साथ लक्ष्य की योजना बनाना भी बहुत जरुरी होता है | जैसे हमें मंजिल का पता हो पर ये पता हो की जाना कैसे है या किस रस्ते से जाना है तो हम पहुँच नहीं पाएंगे |अगर हम योजना नहीं बनाएंगे तो हम भविष्य में भटक जाएंगे जिससे हमारा लक्ष्य अधूरा रह जाएगा और आप सफलता नहीं प्राप्त कर पाएंगे|

बड़ी सोच रखे :-

हममें से ज्यादातर लोग अपना लक्ष्य बहुत ही छोटा तय करते है और उसे प्राप्त कर खुश हो जाते है ऐसे लोग जिंदगी में कुछ नया करने की चाह ही छोड़ देते है | कभी जीवन में बड़ी सफलता पानी है तो बड़ी सोच तो रखनी ही पड़ेगी|अगर आप चाहते है की लोग आपको अपना आदर्श माने तो हमेशा ही बड़ा सोचे और सफल होने के लिए निरंतर प्रयास करते रहे |

मेहनत में आलस करना :-

हमारा दिमाग और हम किसी भी चीज का इंतज़ार नहीं करते है हम यही चाहते है हमे जो चाहिए वो हमें कम मेहनत किए जल्दी से जल्दी मिल जाए | इसलिए जब हम कोई काम करना शरू करते है तो यही उम्मीद लगते है परन्तु सच्चाई यह है की किसी भी सफलता के लिए उम्मीद से ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है | कार्य की शुरुआत में हम बहुत मेहनत करते है परन्तु जैसे जैसे समय निकलता है हमें आलस आने लगता है |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों