सफलता के लिए खुद पर विश्वास क्यों करें

सफलता के लिए खुद पर विश्वास क्यों करें



विश्वास बहुत बड़ी शक्ति होती है | खुद पर विश्वास और सफलता दोनों अनुकूल है एक दूसरे के लिए | सफलता के लिए आत्मविश्वास उतना ही जरूरी है जितना मानव के लिए ऑक्सीजन और मछली के लिए पानी | सफलता के लिए आत्मविश्वास का होना बहुत जरुरी है | किसी भी कार्य में अगर आपको खुद पर विश्वास नहीं है तो आप उसमे सफल नहीं हो पाएंगे |

आत्मविश्वास :-

"लगातार हो रही असफलता से घबराना नहीं चाहिए क्युकी कभी-कभी गुच्छे की आखरी चाबी भी ताला खोल देती है " इससे हमें यही सिखने को मिलते है कि कभी हार नहीं मनना चाहिए अगर सफल होना है तो |लगातार मेहनत करना चाहिए कभी निराश नहीं होना चाहिए और खुद पर विश्वास रखना चाहिए आपकी जीत निश्चित है |आत्मविश्वास हमारी बॉडी-लैंग्वेज, हमारे बोलने के तरीके और हमारे चहेरे से झलकता है | यह हमारे पुराने अनुभव और काबिलियत से बनता और बढ़ता है | सरल बात है की अगर किसी भी काम में आपको खुद पर ही विश्वास नहीं है तो दूसरे आप पर क्यों विश्वास करेंगे |

जैसे मान लीजिए आपके पास कोई विचार है बिज़नेस का परन्तु उसके लिए पैसा चाहिए अब अगर आपको खुद पर विश्वास नहीं है तो आप या तो किसी को बता नहीं पाएंगे या फिर सोचेंगे की ये विचार किसी और ने भी सोच लिए होगा, मान लो आपने बता भी दिया परन्तु आप समझा नहीं पाए ठीक से तो लोग बोलेंगे कि ये तो बकबास विचार है तो आपका विश्वास खत्म हो जाएगा, सामने वाला यह भी सोच सकता है की जब आपको खुद पर ही विश्वास नहीं है तो में क्यों करू | वो क्यों आपको पैसे देंगे सफलता तो दूर आप अगली बार कोशिश भी नहीं करेंगे इसलिए खुद पर विश्वास रखे की जो सोचा है वो बहुत अच्छा है |

खुश रहने के लिए :-

दुसरो की तो आदत ही होती है हमें निराश करना हमें आगे नहीं बढ़ने देना | कोई भी काम जब हम शुरू करते है बहुत लोग आकर बोलते है तुझसे नहीं होगा, तेरे बस का नहीं है, हानि में चला जाएगा | उस वक़्त अगर हमें खुद पर विश्वास है तो हम उस काम को पूरा करेंगे वरना लोगो की बात सुन कर निराश होकर सब कुछ बंद कर देंगे यह सोच कर की वह सही बोल रहा है, परन्तु वो आपको कैसे जान सकता है ? आपको आपसे ज्यादा कोई नहीं जान सकता है इसलिए खुद पर विश्वास नहीं है तो यह सबसे बड़ी बाधा है सफलता के मार्ग में |

अगर हमारी मंजिल बड़ी है तो आत्मविश्वास का मार्ग भी बड़ा ही होगा समय के साथ |

सही रास्ते की पहचान :-

कार्य भी दो तरीके के होते है सम्भव और असंभव, संभव कार्य वो होते है जो आपसे पहले कोई कर चुका है और असंभव कार्य वह होते है जो कोई पहली बार ही करता है | जैसे हवाईजहाज का अविष्कार जब किसी के दीमग में आया होगा कार्य लगभग असंभव प्रतीत होता होगा कुछ लोग हॅसते भी होंगे की ये क्या सोच रहा है ऐसा कभी हो सकता है क्या ? परन्तु खुद पर विश्वास था लोगो की बात नहीं सुनी तो आज वह सफल है |

जो भी करने जा रहे है आप पहले सोचिए वह काम संभव है की असंभव, दोनों काम में सफलता मिल सकती है बस खुद पर विश्वास होना चाहिए | लोग भी अलग-अलग तरह के होते है कुछ लोग काम को देखते ही हार मान लेते है, देखते ही सोच लेते है की यह काम उनसे नहीं होगा ऐसे लोग कभी सफल नहीं हो पाते है | कुछ लोग काम को देखकर प्रयास करते है ऐसे लोगो के सफल होने की सम्भावना होती है क्युकी ऐसे लोग कोशिश करते है |आत्मविश्वास रखना है और दुसरो से कभी अपने आप को कम नहीं समझना है आप 100% सफल होंगे | खुद पर विश्वास नहीं होने के कारण ही हम सफल नहीं बन पते है | दुनिया में बहुत सारी शक्तिया है बस उसे पहचानने की जरूरत है हम खुद पर विश्वास करके दुनिया का कोई भी काम बिना किसी परेशानी के कर सकते है |

सफलता जीवन का आधार है, अगर हम हमारे अंदर की शक्तियों को जाग्रत करके खुद पर विश्वास कर लेते है तो हर कार्य में सफलता हम प्राप्त कर सकते है |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों