सकारात्मक सोच कैसे रखे -15 तरीके

सकारात्मक सोच कैसे रखे -15 तरीके



किसी इंसान को उसकी जिंदगी में सफलता उसकी मेहनत और लगन से मिलती है, जो मेहनत और लगन उसे उसकी सकारात्मक सोच की वजह से मिलती है क्योकि अगर इंसान की सोच सकारात्मक रहेगी तो वह जीवन में बड़े से बड़े परेशानी को आसानी से पार कर सकेगा |

कुछ आसान तरीके पर विचार करते है जो हमें मदद करेंगे हमारी सोच को सकारात्मक बनाने में

ईर्ष्या ना करे:-

जलन की भावना हमारी सबसे बढ़ी दुश्मन है। दूसरे के प्रति राग, द्वेष, ईर्ष्या रखने से मन में हीन भावना पैदा होती है और यह हमारे अंदर मौजूद अच्छाई को समाप्त करती है। इसलिए दुसरों की उपलब्धियों और विकास से ईर्ष्या करने की वजह उससे सींख लें और आगे बढ़ने के लिए अथक प्रयास करें।

व्यस्त रहे:-

हीन भावना, नकारात्मक सोच, आदि विचार हमारे दिमाग में तब आते हैं जब हमारे पास करने के लिए कुछ नहीं होता और हम खाली होते हैं। इसलिए हमेशा कुछ कुछ करते रहें, खुद को अच्छे कामों में उलझाये रखें। अगर आपके पास करने के लिए कुछ हो तो जरूरतमंद लोगों के पास जाकर उनकी मदद करें। यह आपके अंदर अच्छी सोच पैदा करेगा।

संतुष्ट रहे :-

कई बार हम अच्छी खासी जिंदगी जी रहे होते हैं। उसके बावजूद भी हम अपने से बड़े लोगों को देखते हैं। उनके रुपए पैसे, बंगले, गाड़ी को देखकर मन ही मन दुखी होते हैं और सोचते हैं कि हम तो बहुत गरीब हैं। पर क्या आपने कभी अपने से छोटे आदमी को देखा है |

मुस्कुराते रहे :-

आपकी एक छोटी सी मुस्कान न केवल आपके अंदर ऊर्जा का संचार करती है बल्कि इससे आपके आसपास मौजूद लोगों में सकारात्मक भावना पैदा होती है। इसलिए हमेशा मुस्कान बिखेरते रहें। इस संसार में मुस्कुराने की कई वजहें हैं, उन वजहों और उन हसीन पलों को याद करके हंसते रहें और सकारात्मक सोच को बढ़ाते रहें।

लिखने की कोशिश करे :-

आप जो भी सोचते हैं, दिमाग में जिस तरीके के विचार आते हैं उन्हें जरूर लिखें, और इसे सुबह के वक्त लिखने की कोशिश करें। 10 या उससे अधिक बातों को रोज सुबह लिखकर उसका मूल्यांकन करें। इसमें अपने घरवालों, आसपास के माहौल, दोस्तों और सहकर्मियों के बारे में सकारात्मक बातें लिखें।

अपनी बात सामने रखे :-

सकारात्मक सोच को बढ़ाने का सबसे अच्छा तरीका यह भी है कि आप लोगों के सामने अपनी बात को अच्छे से रखें, अगर कोई आपके प्रति अच्छा व्यवहार नहीं रखता है फिर भी उसे अपनी बात सही तरीके से और सलीके से कहें। इसका फायदा आपको मिलेगा और नकारात्मक सोच से आप बचेंगे।

माहौल को समझे:-

किसी काम से बचने का सबसे अच्छा तरीका हमारे पास शायद यही होता है, हम किसी भी चीज या माहौल की शिकायत कर उसे बुरा बनाते हैं। जबकि वास्तव में आप किसी चीज को किस नजरिये से देखते हैं वो ज्यादा मायने रखता है। इसलिए अपने आसपास के माहौल की शिकायत करने के बजाय उसे सकारात्मक तरीके से लेने की कोशिश कीजिए।

प्रेरित रहे :-

अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखने के लिए हमारे लिए सबसे जरुरी है की हम प्रेरणावान बने ऐसा करने से हमें दूसरे लोगो से उनकी गलतियों से प्रेरणा मिलेगी और हम अपनी लाइफ में कम गलतिया करने लगेंगे | इसीलिए अगर कोई व्यक्ति प्रेरणादायक है तो उसकी सोच सकारात्मक होगी क्योकि एक पॉजिटिव थिंकर (positive thinker) ही हमेशा अपनी गलतियों से सीख कर दुसरो को उसके बारे में बता सकता है और उन गलतियों से सीखने आज्ञा दे सकता है |

सकारात्मक सोच:-

कई लोगो का आत्मविश्वास इसीलिए गिर जाता है क्योकि वह लोग अपनी सोच को नेगेटिव सोच रखते है किसी काम को करने से पहले ही वह उस काम में कोई नेगेटिव पॉइंट ढूंढ लेते है जिसके कारणवश उसकी सोच भी नकारात्मक हो जाती है | इसीलिए अगर आप अपनी थिंकिंग (thinking) को पॉजिटिव (positive) रखना चाहे तो इसके लिए आप सभी तरह की नेगेटिव (negative) बातो से दूर रहे और मन ही मन कुछ पॉजिटिव सोचते रहे ऐसा करने से आपकी थिंकिंग हमेशा पॉजिटिव हो जाएगी |

स्वस्थ रहे:-

अगर इंसान की सेहत खराब होती है तो उसे अपने किसी काम को करने में बहुत परेशानी होती है इसीलिए अगर अपनी थिंकिंग को पॉजिटिव रखने के लिए आपके लिए सबसे जरुरी है की आप अपनी सेहत पर ध्यान दे क्योकि अगर आप अपनी सेहत पर ध्यान देते है तो आप मानसिक और शारीरिक फिट रहेंगे इसीलिए आप पॉजिटिव थिंकिंग रखने के लिए अपने आपको हैल्थी (healthy) रखे |

ओवर कॉन्फिडेंस (overconfidence) ना रहे:-

अगर आप अंदर कॉन्फिडेंस रखते है तो वह आपके लिए फायदेमंद होता है उसी तरह अगर आप ओवर कॉन्फिडेंस रखते है तो यह आपके लिए नुक्सान दायक हो सकता है | अगर इंसान के अंदर आत्मविश्वास है तो उसकी सोच हमेशा सकारात्मक रहेगी और अगर आत्मविश्वास नहीं होगा तो सोच भी नकारात्मक रहेगी इसके अलावा अहंकार भी नहीं होना चाहिए क्योकि अहंकार करने से इंसान के अंदर नेगेटिव पॉइंट (negative point) जाते है और वह उनकी तरफ चलता जाता है |

पूरी नींद ले:-

6 से 8 घंटे की नींद को अच्छा माना जाता है। यदि आप अच्छी नींद देते हैं तो आपको दिन में काम करते समय आलस नहीं आता है। आपके अंदर ऊर्जा बनी रहती है और आप हमेशा पॉजिटिव महसूस करते हैं।

डरे नहीं :-

हर इंसान के जीवन में समस्याएं आती है कुछ लोगों के जीवन में कम समस्याएं आती हैं परंतु कुछ लोगों के जीवन में बहुत अधिक समस्याएं आती हैं ऐसे बहुत से महापुरुष है जिनको बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ा पर उन्होंने कभी हार नहीं मानी |

व्यर्थ चिंता ना करे :-

कई लोग 24 घंटे व्यर्थ में चिंता करते रहते हैं। उनके दिमाग में नकारात्मक विचार आते रहते हैं, जैसे कल को नौकरी छूट जाएगी, Insurance की किस्त कहां से जमा करेंगे, मकान कैसे बनाएंगे, बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे इत्यादि। यह एक प्रकार का विकार है। आपको व्यर्थ की चिंता नहीं करनी चाहिए।

योगा और व्यायाम करे :-

आपको जीवन में Positive महसूस करने के लिए योगा और व्यायाम करना चाहिए। इसके साथ ही आपको कसरत भी करना चाहिए। यह सभी क्रियाकलाप हमारे मस्तिष्क के तनाव को दूर करती है। जब आप तनाव मुक्त हो जाते हैं तो आपके मन में अच्छे अच्छे विचार आते हैं और आप बेहतर जिंदगी के बारे में सोचते हैं। पॉजिटिव महसूस करते हैं। आजकल Yoga and Meditation के सेंटर हर छोटे- बड़े शहरों में उपलब्ध है। वहां जाकर आप इसे कर सकते हैं।


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों