मूल्यवान जीवन सबक जो आप लोगों को सिखाना चाहेंगें

मूल्यवान जीवन सबक जो आप लोगों को सिखाना चाहेंगें



सच बात तो यह है, कि सिखाने के लिए हर काम को सीखना पड़ता है पूरी लगन के साथ एवं सीखे हुए काम का लगातार अभ्यास करना चाहिए ताकि वह लम्बे समय तक हमारा साथ दे | जीवन की दौड़ में अगर आगे बढ़ना चाहते है, तो मेहनत, हिम्मत और लगन के साथ एक और चीज की आवश्यकता होती है, वह आत्मविश्वास है | यह एक मात्र ताकत है जो हमें असंभव कार्य को संभव बनाने की शक्ति प्रदान करती है |

आत्मविश्वास का अर्थ :-आत्म विश्वास का अर्थ होता है स्वयं पर विश्वास।किसी भी कार्य को करने के लिए व्यक्ति का स्वयं पर विश्वास होना अति आवश्यक है क्युकि अगर हम किसी कार्य को पूरा करने का दृढ़ निश्चय कर ले तो उस काम को पूरा करने में पूरी कायनात हमारा साथ देती है,और यह सिर्फ खुद पर विश्वास से ही संभव है |अगर आप अपने जीवन के निर्देशक हैं, तो आपकी पूरी आजीविका और आपकी पूरी रचनात्मकता आपके आत्मविश्वास पर आधारित है।

आत्मविश्वास का महत्व :-आत्म विश्वास सफलता की सबसे बड़ी पूँजी है|हमारे जीवन में आत्मविश्वास का बहोत महत्व है |अगर आप किसी कार्य को पुरे आत्मविश्वास के साथ कर देते हैं तो ये मान लीजिए कि आपने आधी सफलता प्राप्त कर ली है| किसी भी काम को करने के लिए अगर आपको खुद पर भरोसा है तो यकीन मानिए वह काम छोटा हो बड़ा हो आप उसे आसानी से कर सकते है।

आत्मविश्वास के उदहारण :-कई उदहारण प्रति-दिन हमें हमारे आस-पास देखने को जरूर मिलते है | हमें उनसे प्रेरणा लेकर खुद पर विश्वास करना चाहिए |आत्मविश्वासी लोग खुद को पसंद करते है,अपनी मंजिल को पाने के लिए प्रेरित रहते है और भविष्य के बारे में सकारात्मक सोचते है,जबकि जिनके अन्दर आत्मविश्वास की कमी होती है,वो किसी काम को करने से पहले ही यह सोचने लगते है कि पता नहीं मैं इस काम में सफल हो पाउँगा की नहीं

  • एक छोटी सी कहानी है जिससे हमें बहुत कुछ सिखने को मिलता है | एक बार की बात थी कुछ 4-5 मेंढक जंगल में खेल रहे थे| खेलते-खेलते 2 मेंढक एक गहरे कुँए में गिर गए | बाहर खड़े मेंढक डर गए और उन दोनों से कहा की यह कुआँ बहुत गहरा है तुम्हारा बहार पाना मुश्किल है और हम भी तुम्हे बचा नहीं सकते है,कुँए में गिरा पहला मेंढक बहुत निराश हो गया रोने लगा अपने आप को कमजोर समझ कर वह कुँए में ही मर गया| वही दूसरा मेंढक प्रयास करता रहा| लगातार कुछ बार वह विफल भी हुआ परन्तु उसने हार नहीं मानी उसने स्वयं पर विश्वास रखा और प्रयास करता रहा देखते ही देखते वह बहार गया ,यह दृश्य देख कर सब आश्चर्य चकित हो गए,उससे पूछा की हम कब से तुम्हे बोल रहे थे की ये संभव नहीं है| तुम्हे हमारी आवाज नहीं आई क्या ? तब दूसरे मेंढक ने कहा मुझे सुनाई कम देता है;मुझे तुम्हारी आवाज नहीं सुनाई दी मुझे खुद पर विश्वास था तो कोई काम असंभव नहीं लगा | यह कहानी से बहुत सी बाते सिखने को मिलती है ,हमें आत्मविश्वास और पूरी मेहनत के साथ कोई भी कार्य के लिए सतत प्रयास करते रहना चाहिए |और दुसरो से पहले अपने मन की आवाज सुननी चाहिए सिर्फ उसी से हमें सफलता मिल सकती है |
  • बिहार के मांझी ने अपने आत्मविश्वास के दम पर ही अकेले पहाड़ को तोड़ कर रास्ता बना दिया था| एक पहाड़ को तोड़ कर रास्ता बनाने के बारे में हम जैसे लोग सोच भी नहीं सकते,और उस अकेले व्यक्ति ने एक पहाड़ को तोड़ डाला| यह सब आत्मविश्वास से ही संभव है| यह बहुत ही अच्छा उदहारण है आत्मविश्वास का और भी खुद पर विश्वास बनाने के लिए

आत्म विश्वास की उत्पति:- कुछ लोगों में आत्म विश्वास बचपन से ही होता है जबकि कुछ लोगों में आत्म विश्वास समय के साथ उत्पन्न होता है। आत्मविश्वास की उत्पति दृढ़ संकल्प से होती है।आप अपने अतीत की उपलब्धियों से प्रेरणा लें और अपने जीवन के नकारात्मक सोच को बदल दें|ये आपको बड़ी उपलब्धि पाने के लिए प्रेरित करेंगी और आपके जीवन को सकारात्मकता से भर देगी इसलिए जीवन के नकारात्मक बिंदुओं पर ध्यान ना दें बल्कि अपनी पिछली सफलताओं पर ध्यान केंद्रित करें|आत्मविश्वास की जरा सी भी कमी आपके लक्ष्य को आपसे दूर कर सकती है। इसलिए हमेशा किसी भी कार्य को करने से पहले अपने मन में जरा सी भी शंका नहीं रखनी चाहिए|

आत्मविश्वास वस्तुतः एक मानसिक एवं आध्यात्मिक शक्ति है| आत्मविश्वास के साथ कोई भी बड़ी से बड़ी लड़ाई आसानी से लड़ी जा सकती है और सफलता का विश्वास भी होता है |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों