बातचीत करते समय 10 बातों का रखें ध्यान

बातचीत करते समय 10 बातों का रखें ध्यान



बातचीत करना हमारा व्यक्तित्व दिखता है सामने वाले व्यक्ति से हम किस तरह से बात करते है इससे सामने वाला हमें पहचानना शुरू करता है|हमेशा किसी से बात करते समय हमें कुछ बातो का ध्यान रखना चाहिए जो आपकी बात करने की कला को और बेहतर बनाएगी| बातचीत में हमारी भाषा भी आती है वैसे तो हम हमारी मातृभषा का उपयोग बोलचाल की भाषा में करते है|

बात करना हमारा हतियार है जिससे हम किसी को भी अपना सकते है उसके बारे में हर चीज जान सकते है यही वह दवा है जिससे लोगो की बीमारी ख़त्म हो जाती है | कभी-कभी हम बात करते है पूरी रूचि के साथ परन्तु हम कुछ महत्वपूर्ण बातो को भूल जाते है और वह हमारे व्यक्तित्व पर गलत प्रभाव डालती है इसलिए जरुरी है हम कुछ बातो को ध्यान में रख कर बात करे सुनने वाला भी आपसे बात करके खुश होगा और चाहेगा की आपकी बात चलती रहे |

कुछ महत्वपूर्ण 10 बातो को अपनी वार्तालाप में सम्मिलित कर के अपनी बातचीत को बेहतर बना सकते है |

सोच समझ कर बात करे :-

किसी भी बात की शुरुआत करते समय हमें सोचना चाहिए, बिना ज्ञान के बातो के बीच में पड़ना नहीं चाहिए| कोई भी बात करने से पहले उसे सोच समझ लेना चाहिए क्युकी बात एक तीर की तरह होती है एक बार निकल गया तो वापस नहीं ले सकते |

इज्जत करे :-

आप किसी से भी बात कर रहे हो हमेशा उसकी इज्जत करो क्युकी आपका व्यक्तित्व आपकी बातो से होता है | आप किसी से इज्जत से बात करोगे तो सामने वाला व्यक्ति भी आपको इज्जत देगा और उसी तरीके से बात करेगा|

मुस्कुरा कर बात करे :-

किसी भी व्यक्ति से अगर आप बात कर रहे हो और आपका मन नहीं है या आप गुस्से में बात कर रहे हो तो आपकी बातचीत ज्यादा लम्बी नहीं चल पाएगी क्युकी हम किसी का मुँह देख कर समझ जाते है की वह क्या चाहता है|इसी जगह अगर आप अपनी बातचीत में मुस्कराहट को सम्मिलित करेंगे तो सामने वाला ख़ुशी-ख़ुशी अपनी बात सुनेगा और आपसे बात करना चाहेगा |

सम्मान दे :-

हमें हमेशा बड़ो या छोटो को सम्मान देना चाहिए और बातचीत करते समय भी ध्यान रखना चाहिए की हमेशा सामने वालो का सम्मान करे और बातो में भी सम्मान युक्त शब्दो का प्रयोग करे |

सुनना भी सीखे :-

हमेशा जब हम बात करते है तो कभी-कभी सिर्फ हम ही हम बोलते है सामने वाले की बात सुनते ही नहीं है ऐसा करने से आपकी बातचीत झगड़ा में बदल जाती है क्युकी अच्छी बातचीत के लिए हमें सामने वाले की सुनना भी चाहिए तभी हम बात ठीक से कर पाएंगे |

चिल्ला चीला कर बात करे :-

हमें हमेशा बात करते समय यह बात का ध्यान रखना बहुत जरुरी है क्युकी इस आदत से सामने वाले व्यक्ति को बात करने में तकलीफ होती है |

बातो को काटना नहीं चाहिए :-

सामने वाले की बातो को पूरा सुनना चाहिए| बातचीत को सुधारने के लिए हमें सामने वाले व्यक्ति की बात का जवाब बिना सुने नहीं देना चाहिए पहले पूरी बात ध्यान से सुनना चाहिए और फिर जबाब दे |

लड़ाई के विषयो से दूर रहे :-

वार्तालाप के दौरान अगर कोई विषय आपको ऐसा लगता है जो लड़ाई की वजह बन सकता है तो उस विषय को छोड़ कर दूसरे विषयो पर वार्तालाप करे इससे आप बुद्दिमान कहलाओगे और अपनी ऊर्जा का सही उपयोग कर पाओगे |

बॉडी लैंग्वेज :-

इंसान के ऊपर आपकी बात का प्रभाव आपकी बॉडी लैंग्वेज से ही पड़ता है कोई बात आप अगर सीधे तरीके से बोलोगे तो लोगो के बीच उसका असर नहीं पड़ेगा और आप मजाक का पात्र बन जाओगे इसलिए जोश के साथ बात के हिसाब से बॉडी लैंग्वेज का उपयोग करे बातचीत को बेहतर बनाने के लिए |

आत्मविश्वास के साथ करे :-

अपनी बात पुरे आत्मविश्वास के साथ करे ताकि उसका असर सामने वाले पर पड़े, नहीं तो उसको लगेगा आप सिर्फ बोल रहे हो वो भी किसी के डर से जो बोल रहे हो वह काम कर नहीं सकते |आत्मविश्वास रखना अच्छा है परन्तु अति-आत्मविश्वास रखना आपकी बातचीत को ख़राब कर सकता है |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों