पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करे -15 विचार (Personality development)

पर्सनालिटी डेवलपमेंट कैसे करे -15 विचार (Personality development)



हमारा व्यक्तित्व हमे बाहर से ही नहीं बल्कि अंदर से भी सुंदर बना देता है। Personality development हमारे कैरियर के लिए एक महत्वपूर्ण विषय है। हमारे विचार, हमारे कपडे, हमे खुद को साबित करते है।

एक परिपूर्ण व्यक्तित्व लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। हमें नई चीजें सीखनी चाहिए और समय के साथ हमे भी बदलना होगा। नीचे दिये गए Personality development टिप्स का अगर आप अनुसरण करते है तो आप निश्चित रूप से अपने व्यक्तित्व मे और भी सुधार ला सकते है और अपने जीवन मे सफलता पा सकते है।

1 प्रोटोन की तरह सकारात्मक बने:-

प्रोटोन कभी अपनी सकारात्मकता (धनात्मकता) नहीं खो सकता है और वैसे ही आप भी कभी नहीं! ये बस तनाव से ढक सकता है और तनाव आपकी ऊर्जा खींच लेता है। सकारात्मक रहकर आप कठिन से कठिन चुनौतियों को पार कर जाते है और साथ ही और अधिक सकारात्मकता और संभावनाओं को अपनी ओर आकर्षित करते है।नकारात्मकता का परित्याग कर सकारत्मक दृष्टिकोण अपनाएं | जब आप के विचार सकारात्मक और आशावादी होंगे तो बिगड़ी बात भी आसानी से बन जाएगी | कोई चुनौती इतनी बड़ी नहीं होती, जिनसे निपटा जा सके |

2 अधिक जोशीले हों:-

किसी भी कार्य को करने के लिए जोश एवं उत्साह चाहिए। जब आप पूरे जोश के साथ प्रयास करते हैं तब जीवन में श्रेष्ठता को स्वतः उपलब्ध होते हैं। हर कोई ऊर्जावान व्यक्तित्व पसंद करता है। आप जो भी काम करते हैं, उत्साह के साथ करने की कोशिश करें । अपना सर्वश्रेष्ठ दें और दूसरों की मदद के लिए तैयार रहें।

3 भावनाओं पर नियंत्रण रखें:-

जिंदगी जब आपको रोलर कोस्टर की सैर कराये तो उसका पूरा आनंद लेना भूलें। अपनी भावनाओं को परिस्थितियों पर राज करने दें बल्कि उनको काबू में रखें। ये आपको चुनौतियों के समय शांत एकाग्र रखेगा।

4 स्वयं पर और दूसरों पर करुणा करें:-

अधिक करुणामय हों। अगली बार जब आप या कोई और गलती करें तो मन में कोई गांठ न बांधें, जाने दें। इस बात को समझे कि हम सभी विकसित हो रहे हैं और कोई भी पूर्ण नहीं है। ये नजरिया स्वयं को और औरों को स्वीकारने में मदद करता है।

5 प्रसंशा करें:-

जब हम किसी के गुणों की प्रसंशा पूर्णता के भाव से करते हैं, तो हमारी चेतना का विस्तार होता है, जो हमारे भीतर उत्साह और ऊर्जा का संचार करता है। वे गुण हमारे भीतर भी विकसित हो ने लगते है और हम बेहतर मानव बनते हैं।

6 प्रभावशाली संवाद करें:-

हम लोगों से संवाद मुख्यतया या तो अपनी उपस्थिति से या फिर अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति से करते हैं। अपने संवाद में स्पष्टता लाते ही आप देखेंगें की लोग बेहतर प्रतिक्रिया दे रहे हैं और अधिकतर जो आपके लिए लाभकारी भी है।

7 खतरों का सामना साहस से करें:-

यदि मुसीबत के समय आप चुनौती देने के लिए उठ खड़े होते हैं तो आपके मुसीबत के पार जाने की सम्भावना अधिक होती है। किसी दबाव के आगे झुके नहीं, बल्कि पूरे विश्वास से उसका सामना करें। इसमें या तो आप विजयी होंगे या फिर जीवन के लिए कुछ अमूल्य सीखेंगें।

8 जीवन में धीरज अपनाये:-

जीवन में विजेता होने के लिए धीरज एक गुप्त घटक है। भड़भड़ाहट और अधीरता से की प्रतिक्रिया फायदे से ज्यादा हानि पहुंचाती है। धैर्य हमारे व्यक्तित्व गुणों का एक मूल्यवान गुण है। यदि आप धैर्य रखना सीखते हैं तो आप अपने जीवन में बहुत कुछ हासिल कर सकते हैं। ऐसे कई अवसर हैं जो धैर्य पर निर्भर हैं जैसे संचार कौशल, शेयर बाजार में निवेश, सही निर्णय लेना, अपने अन्य लोगों के साथ संबंध, और बहुत कुछ। ध्यान रहे, हमें शांति और धीरज रखनी चाहिए, जिससे हम तनाव रहित होकर समझदारी से भरे त्वरित निर्णय ले सकेगें।

9 सही साँस लेने की कला सीखे:-

सबसे महत्वपूर्ण, सही साँस लेना सीखें। अक्सर इस बात को अनदेखा कर देते है कि सही साँस लेने से आप एक तनाव रहित और सकारात्मक जीवन पा सकते हैं। सुदर्शन क्रिया सीखे और साँस की छुपी शक्ति का उपयोग करें। साँस की इस प्रभावी तकनीक से आप शारीरक, मानसिक और भावनात्मक तनावों से मुक्त होते हैं।​​​ प्राणायाम योग क्रिया का हिस्सा है। आपके श्वास पैटर्न को नियंत्रित करने के लिए कई प्रकार की श्वास तकनीकें हैं। यदि आप इन श्वास तकनीकों में से कुछ सीखते हैं तो आप आसानी से अपनी भावनाओं, चेहरे के भावों को नियंत्रित कर सकते हैं, और अपने मन और शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं।

10 संगत का प्रभाव:-

स्वामी विवेकानंद ने कहा हैसमझदार आदमी से की गयी कुछ मिनट की बात हजारों किताबे पढ़ने से कही बेहतर है | ” मतलब कि आपके personality पर आसपास के लोगों और आपकी संगत का भी प्रभाव पड़ता है |इसलिए अपने संबंध सकारात्मक, आशावादी समझदार personality वाले लोगो से रखे क्योंकि ये लोग positive energy से भरे होते है | ऐसे लोगो से दूर ही रहे जो हमेशा नकारात्मक सोचते है | ऐसे लोग तो अच्छा सोचते है और ही सोचने देते है | ऐसे लोगों के साथ रह कर कोई भी अच्छे विचार नहीं ला सकता है | सच कहूँ तो संत की संगत करने वाले सज्जन और दुर्जन व्यक्ति की संगत करने वाले बुरे personality वाले होते है

11 अच्छी आदत :-

इससे आपका शरीर भी स्वस्थ होगा और स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मस्तिष्क का विकास होता है |जब मन स्वस्थ होगा तो आप खुश होंगे और जब आप खुश होंगे तो मन में अच्छे विचार आएंगे | यही विचारों की शक्ति आप के personality निर्माण में योगदान देंगे |

12 नया सीखते रहो

अगर आपको अपने जीवन मे आगे बढना है तो आपको हर दिन हमेशा नया सीखते रहना होगा। इससे आपका समय भी दूसरे व्यर्थ काम मे नष्ट नहीं होगा और आपका ज्ञान और आपका कौशल भी बढेगा अगर आप हमेशा नयी चीजे सीखते रहते है तो आपको दूसरों की जरूरत नहीं पडेगी। आप अपना काम खुद कर सकते हो।

13 दूसरों की सुनो

अगर आप को दूसरों की बात सुनना बेकार लगता है तो दूसरों कों भी आपकी बात सुनना बेकार लगेगा। अगर आप दूसरों की बात विनम्रता से सुनने की आदत डालते हो तो आप जल्द ही अपने जीवन मे सफल हो सकते हो। इस आदत से समाज मे आपके लोगों के साथ रिश्ते भी अच्छे रहेंगे और आपको हर जगह सम्मान भी मिलेगा। और आपका व्यक्तित्व अधिक आकर्षित हो जाएगा।

14 दिखावा मत करो

जब आप अपने व्यक्तित्व मे सुधार लाने की कोशिश करते हो तो आपका मन करता है की नयी चीजों का दिखावा करे। लेकिन ऐसा बिलकुल ना करे। आपको दिखावा नहीं करना है आपको सिर्फ खुद पे ध्यान देना है।जब आप पूरी तरह से खुद मे हमेशा के लिए बदलाव करेंगे तो लोग अपने आप आपकी तरफ आकर्षित होंगे। और आपका आदर करेंगे। अगर आप सिर्फ दिखावा करने के लिए ये सब कर रहे हो तो लोग आप पर हसेंगे।

15 सुबह जल्दी उठे व्यायाम करे :-

सुबह जल्दी उठे और योग व्यायाम करे बहुत फायदा मिलेगा एक नई ऊर्जा का संचार होगा जो आपको दिन भर काम आएगी | वैज्ञानिकों ने साबित किया कि यदि हम सुबह जल्दी उठते हैं, तो हम अपने शरीर की आंतरिक प्रणाली में सुधार कर सकते हैं। हम दिन के दौरान बहुत कुछ हासिल कर सकते हैं और अपने उत्पादकता स्तर को बढ़ा सकते हैं।


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों