क्या-क्या करना समय की बर्बादी है?

क्या-क्या करना समय की बर्बादी है?

  

समय को कभी भी बर्बाद नहीं करना चाहिए अगर आपको उसका महत्व पता है तो, क्युकी जो समय निकल जायेगा वो कभी भी लौट के नहीं आएगा लाख कोशिशों के बाद भी | समय की बर्बादी करने वाला स्वयं बर्बाद हो जाता है | आपका समय इतना बहुमूल्य है कि समय देकर आप दुनिया की सब चीजें प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन दुनिया की सब चीजें न्यौछावर करके भी आप बीती हुई आयु का सौवां हिस्सा भी वापस नहीं पा सकते।

निम्नलिखित कुछ बिंदुओं पर विचार करते है जहाँ हम समय को बर्बाद कर रहे है

स्मार्टफोन का अत्यधिक प्रयोग करना:- आज कल इतनी व्यस्तता के बावजूद हम हमारे दिन भर के समय का 60% भाग हमारे मोबाइल फ़ोन में बर्बाद कर देते है, माना की आज हमारे फ़ोन में पूरी दुनिया समां गई है | हर छोटी बड़ी न्यूज़ हमें पल भर में मिल जाती है परन्तु किसी भी चीज की अति नहीं करनी चाहिए |

आवश्यकता से अधिक सोना और दिनचर्या का अनुसरण ना करना:- हमें हमारे माता-पिता, गुरु और पूर्वजो से अच्छी शिक्षा ही मिली है, सुबह जल्दी उठने की अपने नियमित कामो को समय पर करने की परन्तु आज हम देर से सोते है और देर तक सोते है यह हमारे समय के साथ-साथ हमारे भविष्य की भी बर्वादी है | बहोत पुरानी बात है प्रातः जल्दी उठ सूर्य को उदय होते देखते है तो जीवन में उन्नति होती है, परन्तु जब सूर्य हमें उठता है तो अवनति होती है |

कोई लक्ष्य निर्धारित होना:- जीवन में अगर कोई लक्ष्य ही नहीं है तो सत्य में जीवन बेकार है, हम जीवन में मुसाफिर है हमें पता होना चाहिए की हमें जाना कहा है, रास्ता कौन सा सही है | समय हमारे पास बहोत काम है इसलिए दुसरो के सपनो के बारे में सोचने में समय बर्वाद करने से अच्छा है अपने लक्ष्य निर्धारण करे |

जीवन को सिर्फ धन दौलत के लिए जीना समय की बर्बादी है:- जीवन में सिर्फ पैसा काम नहीं आता है यह तो हाथ का मेल है आज है कल नहीं, भगवान ने हमें रिश्तो के रूप में बहुत अच्छा तोहफा दिए है जो हमारे सफर में हमारा साथ देते है |

किस्मत को दोष देना:- दुसरो को खुश देखकर यह सोचना की उसकी किस्मत अच्छी है और मेरी ख़राब है सच में यह समय की बर्बादी है | भगवान हमें उतना ही देता है जितनी हमें जरूरत है वास्तव में

वर्तमान को भूलकर भविष्य या भूतकाल में जीना समय की बर्बादी है:- जो बीत गया सो बीत गया वो कभी लौट कर नहीं आएगा यही समय का पहिया है | व्यर्थ की बातो में समय बर्वाद करने से अच्छा है भविष्य पर ध्यान दे | सत्य तो यह है की आप जिस पल यह सोच रहे है वह समय भी आप बर्वाद कर रहे है |

व्यर्थ का मनोरंजन:- मनोरंजन भी हद से ज्यादा करना समय की बर्वादी होती है जैसे-

  • रोज में 2-3 फिल्मो को देखना
  • यूट्यूब पर अधिक विडियोज देखना
  • नोटबंदी देश के लिए फायदेमंद थी या नुकसानदायक ? ऐसे मुद्दों पर बहस
  • मुर्गी पहले आयी या अंडा? इस प्रश्न का उत्तर ढूंढ़ना समय की बर्बादी है।
  • गूगल पर"ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए?" इससे कुछ परीणाम मिलने की उम्मीद करना समय कि बर्बादी है।
  • "हिन्दी" अखबार पढकर अपनी अंग्रेज़ी में सुधार की उम्मीद करना समय कि बर्बादी है।
  • छत में लेटकर तारे गिनने कि कोशिश करना समय कि बर्बादी है।
  • सर्दियों में नहाने से पहले ठंडे पानी से भरी बाल्टी में अपना चेहरा देखकर, नहाने का साहस जुटाना समय की बर्बादी

व्यर्थ क्रोध करना:- आज कल लोगो को बोत माजा आता है दुसरो की लड़ाई सुनना और देखना | इसके साथ-साथ खुद को भी लड़ाई करके समय को बर्वाद करना होता है | विवेक की कमी तो आज कल सभी व्यक्ति में देखने को मिलती है क्रोध सभी की नाक पर होता है और लड़ने को तत्पर | फालतू मुद्दे पकड़ कर बहस करना, क्यों अपनी ऊर्जा का बड़ा हिस्सा इन सब में लगा कर समय को बर्वाद करना |


फोन पर अनावश्यक रूप से वार्तालाप करना:- आज कल हम फ़ोन पर एक सीमा से ज्यादा बात करते है हमारे समय की बड़ी बर्वादी है | दिन भर डाटा ऑन करके व्हाट्सप्प चेक करना चैटिंग करना |

समय निर्धारण करना:- समय ही एक मात्रा ऐसा धन है जो खर्च तो प्रतिदिन होता है बस बचत नहीं कर पते | हम हमेशा सोच-सोच के भी समय बर्वाद कर देते है की समय की सारणी बना लो | बस उसका पालन नहीं कर पाते है कभी |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों