अपने एम्प्लोयी को मोटिवेट करने के 15 उपाय

अपने एम्प्लोयी को मोटिवेट करने के 15 उपाय

  

आप भी किसी कंपनी के मालिक है और आपके भी बहुत सारे कर्मचारी है लेकिन क्या आप जानते है की कर्मचारियों से काम करवाने का एक अलग तरीका होता है | इसके लिए आपको अपने एम्प्लाइज को प्रेरित करना होता है इसके लिए हम आपको बताते है की आपको अपने कर्मचारियों को किस तरह से मोटीवेट करना होगा जिससे की वह सही प्रकार से काम करे और अपने हर काम में अपना पूरा योगदान दे इसीलिए आप हमारे द्वारा बताई गयी इन टिप्स को आजमा कर अपने एम्प्लोयी को इंस्पायर (inspire) कर सकते है |

➤ अपने कर्मचारियों के साथ तालमेल अच्छा बनाये रखे

अगर आप अपने सहकर्मचारियों के साथ अच्छा तालमेल बनाए रखते है तो इससे आपके कर्मचारियों के साथ आपका रिश्ता अच्छा बन जाता है और वह आपके द्वारा बताई गयी किसी भी अपडेट (update) या जानकारी को सही रूप से करने के काम करते है | इसीलिए अपने कर्मचारियों के साथ तालमेल बनाये रखने से आपका एम्प्लोयी मोटीवेट (motivate) भी होता है |

➤ समस्या नहीं समाधान बताये

अगर आप अपने एम्प्लाइज को बार-2 उनकी समस्या बताते है तो इससे उनका कॉन्फिडेंस (confidence) भी गिर जाता है इसीलिए आप अपने एम्प्लाइज को समस्या बताने के बजाय उनके गलत किये हुए काम पर उस समस्या का समाधान बताते है तो यह उनके लिए अधिक फायदेमंद भी होगा जिससे की उनका वर्किंग एक्सपीरियंस (working experience) भी बढ़ेगा |

➤ नकारात्मकता से दूर रखे

अगर कोई व्यक्ति किसी काम को सकारात्मक तरीके से करता है तो वह उस काम में सफलता हासिल कर सकता है | इसीलिए अगर आप अपने कर्मचारियों को उनकी नेगेटिविटी (negativity) से दूर रखते है तो उसकी मदद से उस एम्प्लोयी को मोटिवेशन मिलेगा और वह अपने काम में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान दे पायेगा |

➤ उनके उद्देश्य को बढ़ावा दे

आपको अपने एम्प्लोयी को बताना है की उनका उद्देश्य क्या है ? उनको किस प्रकार से काम करना है ? और उनको काम करने के लिए क्या करना पड़ेगा ? और क्यों काम करना पड़ेगा ? इसीलिए आपको अपने कर्मचारियों को मोटीवेट करने के लिए सबसे पहले उनको उनका उद्देश्य बताना होता है और उनके उद्देश्य का बढ़ावा देना होता है | अगर आप उनके उद्देश्य को बढ़ावा देते है तो वह अधिक ज्यादा मोटीवेट होगा |

➤ स्वयं से मोटीवेट करे

किसी अन्य व्यक्ति को मोटीवेट करने से पहले आपको खुद भी मोटीवेट होना होगा इसीलिए पहले आप खुद को मोटीवेट करे फिर उसके बाद ही आप अपने एम्प्लाइज को मोटीवेट कर पाएंगे |

➤ सक्रिय रूप से सुनें और प्रश्न पूछें

अपने एम्प्लोयी की बाते हमेशा सुने समझे और निश्चित प्रश्न पूछे ताकि उन्हें लगे की आप उनकी बात में रूचि ले रहे है | सभी को बराबर बोलने का मौका दे सभी के सुझावों को सुनने की कोशिश करे |

➤ प्रोत्साहित करते रहे

अपने एम्प्लोयी को प्रतिदिन उनके अच्छे कार्यो के लिए प्रोत्साहित करना बहुत जरुरी है इससे एम्प्लोयी को ख़ुशी होती है और साथ ही साथ और अच्छा कार्य करने की ऊर्जा भी मिलती है |

➤ तरक्की के मार्ग देते रहे

हमेशा अपने एम्प्लोयी को अपनी कम्पनी में तरक्की के मार्ग से रूबरू रखे ताकि उन्हें अपना अच्छा भविष्य आपके साथ दिखे और वह आपके साथ लम्बे समय तक कार्य करते रहे |

➤ परिवार जैसा माहौल रखे

अपने ऑफिस में परिवार जैसा माहौल रखना बहुत जरुरी है तभी सभी एम्प्लोयी को कार्य करने में मजा आएगा एक अच्छा मोटिवेशन मिलेगा, कोशिश करे घर जैसे वातावरण हम हमारे ऑफिस में बना कर रखे |

➤ एक्टिविटी करते रहे ऑफिस में

सबसे जरुरी है यह अपने ऑफिस में एम्प्लोयी को मोटिवेटेड रखने के लिए एक्टिविटि (motivational activities) करते रहे इससे सभी के अंदर उत्साह और ऊर्जा बनी रहेगी |छोटी छोटी प्रतियोगिता रखे और इनाम भी देते रहे इससे बहुत फायदा मिलेगा |

➤ एम्प्लोयी के बारे में सोचे हमेशा

हमेशा अपने एम्प्लोयी के बारे में सोचे क्युकी वह आपकी कम्पनी को चला रहा कोई भी बड़ा व्यक्ति आपके साथ बिज़नेस तभी करता है जब आपके पास मैनपावर (manpower) होता है | इसलिए उनकी छोटी मोटी जरूरत को पूरा करते रहे इससे ही उनको मोटिवेशन मिलेगा |

➤ एक दूसरे की मदद करने के लिए प्रेरित करे

अगर किसी कार्य की शुरुआत हम करते है तो जरुरी होता है सभी से करवा पाना इसलिए ऑफिस का माहौल ऐसा रखे की सभी लोग एक दूसरे की मदद करे, और अगर कोई ऐसा करता है तो उसका उत्साह वर्धन करे I सभी के सामने धन्यवाद करे इससे उसे जरूर अच्छा लगेगा, और सभी के मन में भी भावना आएगी कुछ अच्छा करने की |

➤ प्रतियोगिता का माहौल बना दो

जो की क्रांति ले आओ अपने ऑफिस में, प्रतियोगिता का माहौल बना दो, उत्साह का संचार कर दो चारो तरफ इससे आपका ऑफिस अलग ही तरक्की पर रहेगा |

➤ सकारात्मक वातावरण रखे

हमेशा वातावरण सकारात्मक रखे अपने कम्पनी /ऑफिस का इससे आपके एम्प्लोयी भी सकारात्मक रहेंगे और कार्य को उसी ऊर्जा के साथ संपन्न करेंगे I जितना हो सके नकारात्मक ऊर्जा को उनसे दूर ही रखे I किसी मुसीबत के समय पर भी आपको सकारात्मक रहना बहुत जरुरी है और सभी एम्प्लोयी को सकारात्मक रखना आपका परम कर्त्तव्य होना चाहिए |

➤ झूठ ना बोले

कोई भी रिश्ता जिस तरह सिर्फ सच और विश्वास की बुनियाद पर टिका रहता है ठीक उसी तरह अपने एम्प्लोयी के साथ अपना रिश्ता मजबूत रखे उनसे कभी झूठ ना बोले |


अपनी राय पोस्ट करें

न्यूनतम 500/500 शब्दों