आलस को दूर करने के उपाय

आलस को दूर करने के उपाय

  

आज के समय में सफलता प्राप्त करने के अवसर सीमित है। यदि आप सफल होना चाहते हैं तो आपको इन अवसर का फायदा उठाना जरूरी होता है। जो लोग अवसर का फायदा उठाते हैं वे लोग आगे बढ़ जाते हैं और जो लोग मेहनत करने से बचते हैं वह पीछे रह जाते हैं। इसलिए यदि हमें जिंदगी में सफलता प्राप्त करना है तो हमें आलस को छोड़कर मेहनत करना चाहिए।

इस लेख के माध्यम से आपको आलस को दूर करने के उपाय बताए गए हैं जिन्हें अपनाकर आप सफलता प्राप्त कर सकते हैं –

1) नींद पूरी ले:-

आलस को दूर करने के लिए पूरी नींद लेना जरुरी होता है। यदि आप पूरी नींद नहीं लेंगे तो काम करते समय आप को आलस आएगी और आप अपने काम को ठीक तरीके से नहीं कर पाएंगे। इसलिए छह से आठ घंटे की नींद जरूर ले। पूरी नींद होने पर आप अपने आप को तरोताजा और ऊर्जावान महसूस करेंगे।

2) खाना भूख के हिसाब से खाये :-

हमेशा खाना भूख के अनुसार खाये। यदि आप भूख से अधिक खाना खाएंगे तो आप को आलस आएगी और आप मन लगाकर काम नहीं कर पाएंगे। इसी प्रकार अधिक तला हुआ और मिर्च मसालेदार खाना खाने से भी बचे। ऐसा खाना न केवल शरीर में आलस लाता है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होता है। इसलिए रेशेदार और पौष्टिक भोजन करे और ताजे फल सब्जियों का सेवन करके स्वस्थ और रोग रहित रहे।

3) नकरात्मक सोच से बचे:-

नकरात्मक सोच से आलसीपन बढ़ता है। यदि हम यह सोच ले कि हमसे यह काम नहीं होगा तो हम उस काम को कभी भी मन लगाकर नहीं करेंगे। उस काम को करने में हमें आलस आएगी क्योंकि हमें यह लगेगा कि जब इस काम को करने से कोई फायदा नहीं है तो हम इसे क्यों करे ? इसलिए पहले हम अपनी नकरात्मक सोच को बदले और फिर आलस को दूर करने का प्रयास करे।

यदि आप को आलस आये या आप नकरात्मकता का अनुभव करे तो अपने आस पास के सफल लोगो से प्रेरणा ले। जिन्होंने अपने कठोर परिश्रम से सफलता प्राप्त की। जब आप ऐसे लोगो को याद करेंगे तो आप को बिलकुल आलस नहीं आएगा।

4) लगातार काम से बचे :-

यदि हम किसी काम को लगातार करते है तो हम शारीरिक और मानसिक रूप से बहुत थका हुआ अनुभव करते है। इसलिए लगातार काम करने की जगह थोड़ा सा ब्रेक लेकर काम करे तो ठीक रहेगा। हम फ्रेश अनुभव करेंगे और फिर से अपनी पूरी एनर्जी के साथ काम करने में लग जायेंगे। ब्रेक में थोड़ा हंसी मजाक करना, पानी पीना, हल्का नाश्ता करना या भोजन करना, मनपसंद गाने सुनना आदि काम कर सकते है।

5) अपने लक्ष्य पर फोकस करे :-

यदि आप ने अपने जीवन का कोई लक्ष्य बनाया है तो आप उस पर पूरी तरह से फोकस करे। ऐसा करने से आपका ध्यान कभी भी किसी अन्य काम में नहीं भटकेगा और आप आलस का अनुभव नहीं करेंगे। इसलिए पहले आप अपने जीवन का लक्ष्य अवश्य बनाये और फिर उसे ध्यान में रखते हुए अपनी मेहनत करे। यदि हम बिना लक्ष्य बनाये किसी भी काम को करेंगे तो उस काम को करने में कभी भी समर्पण की भावना से नहीं होगी और हमें सफलता असफलता से कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

6) काम को टालना छोड़ दे :-

कहा जाता है - काल करे सो आज कर, आज करे सो अब, पल में परलय होयेगी, बहुरि करेगा कब।

यह श्लोक हमें बताता है कि कल के काम को आज और आज के काम को अभी करना चाहिए। इसका अर्थ यह है कि हमें काम को कभी भी टालना नहीं चाहिए। जो लोग काम को टालते है ऐसे लोगो को ही आलसी कहा जाता है। कल कभी नहीं आता है इसलिए यदि सफल होना है तो काम को टालने की जगह आज और अभी करना सीखे।

7) योजना बना कर काम करे:-

यदि आप योजना बनाकर काम करेंगे तो आप को कभी आलस नहीं आएगी। योजना बनाकर काम करने से काम सरलता से पूर्ण हो जाते है। कई बार काम के बोझ के कारण भी आलस आती है। यदि हमारे ऊपर अधिक काम का बोझ नहीं होगा तो हम सभी कामो को आसानी से बिना किसी तनाव के पूरा कर लेंगे और हमें थकान भी महसूस नहीं होगी। इसलिए पहले सभी कामो की एक लिस्ट बना ले। उन कामो को करने की एक योजना बनाये और फिर उन्हें प्राथमिकता के आधार पर पूरा करे।

8) सुबह जल्दी उठने की आदत डाले :-

यदि आलस को भगाना है तो सबसे पहले सुबह जल्दी उठने की आदत डाले। हमारी नींद हमारे आलस का सबसे बड़ा कारण है। रात में जल्दी सोकर सुबह जल्दी उठ जाए। योग और कसरत के लिए भी समय निकाले। इससे आपका मन खुश रहेगा और दिन भर के काम करते समय आप कभी भी आलसी महसूस नहीं करेंगे और अपने स्वास्थ्य का ध्यान भी रख पाएंगे। आपको दिन भर के कामो के लिए अच्छा समय मिल जाएगा। इसलिए आप सुबह जल्दी उठने का प्रयास करे।

कहा जाता है कि जो लोग समय के साथ चलते हैं। वही लोग आगे बढ़ते हैं और जो समय के महत्व को नहीं समझते हैं वे असफल हो जाते है। इसलिए आज से ही इन सभी बातो को ध्यान रखते हुए आलस को छोड़ दे और मेहनत और लगन से काम करना शुरू कर दे। तभी आप सफल हो पाएंगे।


अपनी राय पोस्ट करें

ज्यादा से ज्यादा 0/300 शब्दों